DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पुलिस में योगदान देने आये दो अभ्यर्थी धराये

पुलिस में योगदान देने आये दो अभ्यर्थी धराये

बिहार सैन्य सप्तम वाहिनी के रक्षित कार्यालय में योगदान करने आये दो अभ्यर्थियों को पुलिस के हवाले कर दिया गया है। दोनों अभ्यर्थियों ने बीएमपी में सिपाही बनने के लिए लिखित परीक्षा स्वयं नहीं देकर अपने-अपने दोस्तों से दिलायी थी। परीक्षा के समय एडमिट कार्ड में परीक्षा देने वालों का ही फोटो था, लेकिन शारीरिक दक्षता परीक्षा भी किसी प्रकार से दे दी। लेकिन जब योगदान करने का समय आया तो असली अभ्यर्थी बीएमपी सात के रक्षित कार्यालय पहुंच गये। योगदान देने के समय जब अभ्यर्थी रक्षित पदाधिकारी के समक्ष प्रस्तुत हुए तो दोनों अभ्यर्थियों का फोटो मिलान नहीं हो पाया। इसके बाद दोनों अभ्यर्थियों को सहायक थाना के पुलिस के हवाले कर दिया।

एसडीपीओ अनिल कुमार ने बताया कि एक फर्जी अभ्यर्थी की पहचान जहानाबाद जिले के टिमलपुर निवासी सतीश कुमार तथा दूसरे भागलपुर जिले के इंगलिश रतनपुर निवासी निलेश कुमार के रूप में हुई है। दोनों अभ्यर्थियों के खिलाफ गलत तरीके से बीएमपी का सिपाही बनने का प्रयास करने के आरोप में केस दर्ज कर न्यायिक हिरासत में भेजा जा रहा है। गिरफ्तार निलेश व सतीश ने पुलिस को पूछताछ में बताया है कि उसने परीक्षा के समय दूसरे से परीक्षा दिलाया था। इसलिए वे लोग फंस गये हैं। अब उन्हें अहसास हो रहा है कि उनसे गलती हुई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Have two candidates coming to contribute to the police