DA Image
7 जुलाई, 2020|8:01|IST

अगली स्टोरी

दिल्ली तक गुहार, अब आंदोलन

दिल्ली तक गुहार, अब आंदोलन

आरबीएचएम जूट मिल को चालू कराने के लिए दिल्ली तक गुहार लगा चुके है लेकिन अब आंदोलन होगा। रविवार को मजदूर संघ इंटक की कार्यकारिणी बैठक हुई। बैठक की अध्यक्षता करते हुए विकास सिंह ने कहा कि 08 जनवरी 2016 से आरबीएचएम जूट मिल बंद है। श्रमिक संगठनों व जन प्रतिनिधियों ने कटिहार से लेकर दिल्ली तक गुहार लगायी लेकिन नक्कारखाना में तूती की आवाज साबित हुई।

सर्वसम्मति से निर्णय किया गया कि 01 मई को अन्तर्राष्ट्रीय मजदूर दिवस मनाने के बाद मिल चालू करवाने को लेकर करो या मरो कार्यक्रम आयोजित होगा। सन बायो मैन्यूफैक्चरिंग प्राइवेट लि. पुराना जूट मिल में विभिन्न समस्याओं को लेकर मांग-पत्र दिया जायेगा। श्री सिंह ने बताया कि कर्मचारी राज्य बीमा चिकित्सालय में स्थायी चिकित्सक की नियुक्ति, पर्याप्त मात्रा में दवा की व्यवस्था, निजी विद्यालय, नर्सिंग होम, 102 एम्बुलेंस कर्मचारी निर्माण मजदूर, सभी होटलों के कर्मचारियों की समस्याओं को लेकर गंभीरता से विचार-विमर्श किया गया।

मजदूर दिवस पर सभी श्रमिक संगठन के प्रतिनिधियों को सुबह 10 बजे शहीद चौक पर झंडोत्तोलन में भाग लेने का आह्वान किया गया। सदस्यता अभियान में तेजी लाने, संगठन को मजबूत बनाने, लगातार तीन बैठक में उपस्थित नहीं होने वाले पर अनुशासनात्मक कार्रवाई करने का भी निर्णय किया गया। महामंत्री विनोद झा, सुधीर श्रीवास्तव, मिथिलेश कुमार, अमर शर्मा, असित घोष, प्रकाश महतो, योगेन्द्र मेहता, कृष्ण कुमार झा, हीरा सिंह, प्रभात सिंह, लाल मोहन सिंह, अशोक शर्मा, सुरेश पासवान, अमर सिंह, रामचन्द्र सिंह, सुनीता शर्मा, सविता देवी, कुमारी कंचन, संजय चौधरी, सुभाष मंडल उपस्थित थे। 102 एम्बुलेंस कर्मचारी संघ की सभी समस्याओं का समाधान शीघ्र नहीं होने पर हड़ताल किया जाएगा।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Ghaar to Delhi, now the movement