DA Image
19 सितम्बर, 2020|12:23|IST

अगली स्टोरी

बरारी में लाल निशान से ऊपर पहुंच स्थिर हो गई गंगा

बरारी में लाल निशान से ऊपर पहुंच स्थिर हो गई गंगा

महानंदा और बरंडी नदी का जलस्तर में वृद्धि हो रही है। महानंदा नदी का जलस्तर में कदवा, आजमनगर, प्राणपुर और अमदाबाद प्रखंड में अलग-अलग आक्राम्य स्थलों पर न्यूनतम 13 सेमी तथा अधिकतम 24 सेमी की बढ़ोत्तरी दर्ज किया गया है।

बरंडी नदी का जलस्तर में समेली में नेशनल हाईवे 31 डूमर गांव के पास तीन सेमी बढ़ गया है। इन दो नदियों के जलस्तर में बढ़ने की रफ्तार पूर्व की तुलना में काफी धीमी है। इसके कारण तेज हवा चलने से नदी अपने किनारे भाग का कटाव करने लगती है। प्राणपुर के झल्ला हरेरामपुर, अमदाबाद के लखनपुर और कदवा प्रखंड के धनगामा पंचायत के मुकुरिया गांव के पास महानंदा नदी का कटाव जारी है। कटाव की रफ्तार कम रहने के बाद भी नदी किनारे स्थित गांव में रहने वाले ग्रामीणों के बीच दहशत का माहौल है। गंगा नदी का जलस्तर पिछले चार दिन से न तो बढ़ रहा है और नही घट रहा है। इसका मुख्य कारण यह है कि गंगा नदी का पानी जितनी मात्रा में पश्चिम बंगाल की ओर जा रही है। उतनी ही मात्रा में नदी के अपस्ट्रीम में नदी में पानी आ रहा है। इसके कारण गंगा नदी का जलस्तर पिछले चार दिनों से बरारी प्रखंड के काढ़ागोला के पास तथा दो दिनों से मनिहारी और अमदाबाद में स्थिर है। इस कारण से पानी का दबाब अमदाबाद, मनिहारी, बरारी और कुरसेला में बना हुआ है। बरारी प्रखंड में नदी के काश तटबंध और स्पर संख्या 6, 7,8,9, 10 पर गंगा नदी का पानी बना हुआ है। कई जगहों पर तटबंध से सट कर पानी बह रहा है। गंगा नदी का जलस्तर में कमी नहीं होने के कारण मनिहारी लंच घाट, बाघमारा, केवाला, गांधी टोला, लंच घाट के पास नदी का दबाब बढ़ गया है। इस कारण से अमदाबाद प्रखंड के बबलाबन्ना गांव नदी का कटाव हर दिन हो रहा है। सोमवार की रात से गंगा नदी अपने किनारे भाग के पचास मीटर लंबाई में कटाव जारी है।

अमदाबाद के बद्रे आलम ने कहा कि पिछले 24 घंटे से गंगा नदी का कटाव हो रहा है। कटाव का स्थान सीमित नहीं है। गंगा स्थान बदल-बदल कर या अपने पूराने स्थान पर ही कटाव को रहा है। कही पर पचास मीटर या कहीं पर दस से पांच मीटर की लम्बाई गंगा का कटाव कटाव हो रहा है। इससे कटाव पीड़ित की जीवन बड़ा कष्टमय हो गया है। पिछले 18 घंटे से कारी कोसी और कोसी का जलस्तर स्थिर हो गया है। जलस्तर में गिरावट नहीं होने से निचले इलाके से नदी का पानी बाहर नही निकल रहा है। इससे खेत खलिहानों में नदी का पानी फैला हुआ है। बाढ़ नियंत्रण कक्ष के अभियंता ने बताया कि नगर निगम के शरीफगंज क पास कारी कोसी नदी का जलस्तर 28.16मीटर पर तथा कोसी नदी का जलस्तर कुरसेला रेल पुल के पास 30.55मीटर मीटर पर स्थिर है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Ganga becomes stable above the red mark in Bari