DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

किसानों को ऑर्गेनिक खेती करनी चाहिए: मंत्री

किसानों को ऑर्गेनिक खेती करनी चाहिए: मंत्री

कुरसेला प्रखंड के ई-किसान भवन में शनिवार को आयोजित रबी फसल महोत्सव सह प्रशिक्षण शिविर का उद्घाटन जिप सदस्य गोपाल यादव,राजद के प्रखंड अध्यक्ष अरूण साह, आत्मा के उपपरियोजना निदेशक एसके झा, कृषि वैाानिक रमाकांत सिंह एवं उपप्रमुख रूबी कुमारी ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्ज्वलित कर किया। मौके पर किसान सलाहकार समिति कि अध्यक्ष सुरेश मंडल ने अपनी भावनाओं से किसानों को अवगत कराया।

रबी महोत्सव को संबोधित करते हुए उपपरियोजना निदेशक श्री झा ने किसानों को विभाग द्वारा चलायी जा रही योजनाओं की जानकारी देने के साथ-साथ कृषकों की आय कैसे दोगुनी होगी इसके लिए उन्होंने विभागीय जानकारी से अवगत कराते हुए इसका लाभ लेने पर बल दिया। कार्यक्रम के दौरान उपस्थित सैकड़ों की संख्या में प्रगतिशील किसानों ने अपनी समस्याओं से कृषि वैज्ञानिकों को अवगत कराया। इस दौरान कृषि विज्ञान केन्द्र के वैज्ञानिक सिंह ने रबी फसल के दौरान कीट व्याधि जांच, जैविक खाद का प्रयोग सहित विभागीय योजनाओं का लाभ के बारे में बताया।

मौके पर बीएओ रामयश मंडल, पूर्व किसानश्री सह पूर्व प्रमुख अरूण मंडल, भाजपा के प्रखंड अध्यक्ष सह पंचायत समिति सदस्य दिनेश्वर मंडल, जदयू नेता मनोज सिंह, दिनेश कुमार दिनेश, किसान सलाहकार विनीज रमण, मांगन कुमार यादव, तनवीर आलम, अनिता कुमारी, आरती कुमारी, सहायक तकनीकि प्रबंधक अनिल सिंह, कृषि समन्वयक शिवेश कुमार, रंजन पंडित के अलावा सैकड़ों की संख्या में किसानों ने भाग लिया।

वहीं प्राणपुर के मुख्यालय प्रांगण में प्रखंड स्तरीय रबी महोत्सव कार्यक्रम का खनन व भूतत्व मंत्री विनोद कुमार सिंह ने दीप प्रज्जवलित कर उदघाटन किया। मौके पर भाजपा नेता अरुण कुमार सिन्हा, उपपरियोजना पदाधिकारी आत्मा के शशिकांत झा, बीडीओ सरोज कुमार, सीओ विनय कुमार, कृषि वैज्ञानिक डॉ. रामाकांत, बीएओ विजय मिश्रा, डा. राजेन्द्रनाथ मंडल, प्रभात मिश्रा, प्रखंड अध्यक्ष गणेश मंडल, किष्टो साह, चंदन सिंह, रंजीत साह, सुभाष भगत सहित कई लोग मौजूद थे। कृषि महोत्सव कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए मंत्री सिंह ने कहा कि किसानों को ऑर्गेनिक खेती करना चाहिए। ताकि स्वास्थ्य लाभ मिल सके।

रसायनिक खेती से भूमि बंजर हो जाता है तथा स्वास्थ्य पर काफी प्रभाव पड़ता है। इसलिए किसानों को जैविक खेती करनी चाहिए। इससे फसल की उपज भी काफी होती है। कृषि वैज्ञानिक रमाकांत ने किसानों को मक्का, सरसो, गेंहू सहित कई फसलो के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी दिया। उन्होंने समय पर खेती करने व समय पर फसल की बुआई करने की जानकारी दिया। उक्त कार्यक्रम को सफल बनाने में समन्वयक अमरनाथ कंुदन, धीरज कुमार, मनीष कुमार, कृष्णमोहन साह सहित कई लोग मौजूद थे।

उक्त प्रशिक्षण शिविर में सभी पंचायतों से सैकड़ों किसान उपस्थित थे। वहीं बंद कमरे में कुछ किसानों को बुलाकर कृषि वैज्ञानिक भाषणबाजी करते हैं परन्तु इससे काम नहीं चलेगा। अगर कृषि में सुधार लाना है तो गांव गांव खेतों में जाकर किसानों को प्रायोगिक तौर पर प्रशिक्षण देना होगा। उक्त बाते विधायक महबूब आलम ने प्रखंड स्तरीय रबी प्रशिक्षण कार्यक्रम में कृषि पदाधिकारी, वैज्ञानिक एवं किसान सलाहकारों को निर्देश देते हुए कही। उन्होंने कहा कि हमारे क्षेत्रके किसान अभी भी अज्ञात है उनके अधूरे ज्ञान को पूर्ण करने की आवश्यकता है। जो एक बंद कमरे में प्रशिक्षण देकर नहीं हो सकता है। इसे गांव गांव जाकर सभी को इक्कठा कर प्रशिक्षण देने की जरुरत है। उन्होंने इस प्रक्रिया में सभी से सुधार करने की बात कही।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Farmers should make organic farming minister