ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहार कटिहारप्लेटफॉर्म नंबर आठ पर बिना सीढ़ी के पहुंचने की मिले सुविधा

प्लेटफॉर्म नंबर आठ पर बिना सीढ़ी के पहुंचने की मिले सुविधा

प्लेटफॉर्म नंबर आठ पर बिना सीढ़ी के पहुंचने की मिले सुविधा प्लेटफॉर्म नंबर आठ पर बिना सीढ़ी के पहुंचने की मिले सुविधाप्लेटफॉर्म नंबर आठ पर बिना...

प्लेटफॉर्म नंबर आठ पर बिना सीढ़ी के पहुंचने की मिले सुविधा
हिन्दुस्तान टीम,कटिहारWed, 29 May 2024 02:00 AM
ऐप पर पढ़ें

कटिहार, निज संवाददाता
राष्ट्रीय जनता दल व्यवसायिक प्रकोष्ठ के बैनर तले जिलाध्यक्ष असीम भौमिक के साथ राजद के वरिष्ठ नेताओं का एक शिष्टमंडल एनएफ रेल कटिहार डिवीजन के डीआरएम सुरेंद्र कुमार तथा एडीआरएम मनोज कुमार सिंह से मिलकर शहर तथा रेलवे स्टेशन से जुड़े समस्याओं के निदान के लिए दोनों पदाधिकारियों का ध्यान आकृष्ट कराया। शिष्टमंडल में शामिल पूर्व मंत्री डॉ. रामप्रकाश महतो ने कहा कि प्लेटफॉर्म नंबर एक की तरह प्लेटफॉर्म नंबर आठ पर बिना सीढ़ी के पहुंचने की सुविधा यात्रियों को मिले। इसके साथ-साथ स्टेशन के पूर्वी चारदीवारी से घिरा एक तालाब का सौंदर्यीकरण, रेल मार्केट कंप्लेक्स अथवा कोई वैकल्पिक प्रयोग की दिशा में पहल करने की मांग की।

डॉ. महतो ने राजद व्यवसायिक प्रकोष्ठ की मांगों का स्मार पत्र डीआरएम को सौंपते हुए वर्णित तीनों मुख्य ज्वलंत समस्याओं के शीघ्र समाधान हेतु स्थल की सतही जानकारी लेकर रेल उपभोक्ताओं को तथा आम अवाम को हो रही परेशानी को दूर करने का आग्रह किया। शिष्टमंडल में पूर्व मंत्री डॉ. रामप्रकाश महतो, प्रवक्ता मनोहर यादव, भोला पासवान, प्रदेश सचिव सुदामा सिंह निषाद, जिलाउपाध्यक्ष अख्तर बबलू, राजद नेता पूर्व मुखिया मो. यासिम हाजी शहबाज हसन तथा व्यवसायिक प्रतिनिधि राजकिशोर वर्मा प्रमुख थे।

पुल बंद होने से शहरवासी में पनप रहा आक्रोश

डॉ महतो ने बताया कि मरम्मत के नाम पर पिछले आठ माह से फलपट्टी पुरानी सिटी बुकिंग स्थित फूट ओवर ब्रिज बंद है। मरम्मत होने के बावजूद पुल को बंद रखने से शहरवासियों में आक्रोश पनप रहा है। उन्होंने बताया कि शहर के दो भागों को मिलाने में पुल सेतु का काम करता है। पूरब में बीएसएनल, प्रधान डाकघर, डीएस कॉलेज, महर्षि मेंही होम्योपैथिक कॉलेज आदि शिक्षण संस्थान है तो पश्चिम दिशा में व्यवहार न्यायालय, जिला समाहरणालय, पॉलिटेक्निक कॉलेज आदि हैं। पुल के बंद रहने से दोनों दिशाओं के लोगों का आने-जाने में समय के साथ-साथ आर्थिक खर्च भी बढ़ गया है। छात्र-छात्राओं को महाविद्यालय आने में अधिक परेशानी हो रही है। इतना ही नहीं यह पुल तीन प्लेटफार्म से भी जुटता है। इसके कारण रेल उपभोक्ताओं को भी काफी परेशानी उठानी पड़ रही है।

सड़क सहीं नहीं होने से आवागमन में परेशानी

डॉक्टर महतो ने कहा कि मौलाना अबुल कलाम आजाद चौक से मॉडल स्टेशन जाने और पार्सल ऑफिस से मॉडल स्टेशन जाने वाली दोनों सड़क के दुरुस्त नहीं रहने से आवागमन में काफी परेशानी होती है। वर्तमान में मौलाना चौक से जाने वाली सड़क पर स्लीपर बिछा दिया गया है जिसमें बड़े-बड़े गड्ढे रहने के कारण प्रतिदिन छोटी-मोटी घटनाएं हो रही है। पूर्व मंत्री ने एक नंबर प्लेटफार्म की तरह मॉडल स्टेशन की तरफ भी एक प्लेटफॉर्म जिसका सीधा संपर्क बिना पुल के हो बनाने का आग्रह किया। मंडल रेल प्रबंधक ने सकारात्मक कार्रवाई का भरोसा प्रतिनिधि मंडल को दिलाया।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।