DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जिलेभर में आपसी भाईचारे और सौहार्द के साथ मनाई गई ईद

जिलेभर में आपसी भाईचारे और सौहार्द के साथ मनाई गई ईद

देश में अमन व शांति के लिए रोजेदारों ने ईद की नवाज पढ़ी। शहर के ललियाही, रामपड़ा समेत जिले के 150 से अधिक ईदगाहों में ईद की नमाज पढ़ी गई। ईद की नमाज पढ़ने के लिए ललियाही स्थित ईदगाहों पर रोजेदारों का सुबह सात बजे से ही शुरू कर दिये थे।

सुबह के साढ़े नौ बजे से 10 बजे तक ईद की नमाज पढ़ी गई। कोलकाता से आये मौलाना रईसुल कादरी के नेतृत्व में रामपड़ा और ललियाही ईदगाह में 10 हजार से अधिक रोजेदारों ने ईद की नमाज अदा की। रोजेदारों में नगर निगम के उप मेयर मंजुर खान ने कहा कि उन लोगों ने अपने अल्लाह से दुआएं मांगी। अल्ला से हिन्दुस्तान में अमन व शांति के साथ देश की तरक्की की दुआ मांगी।

ललियाही ईदगाह व कबिस्तान कमेटी के सचिव मोहम्मद मिस्टर, अध्यक्ष भोला मिंया, संरक्षक मो जाहिद, मंजुर खान, अली, मो नौशाद, तबरे आलम, अब्दुल खालिक, मजहर, राजिद खान आदि ने कहा कि मोहम्मद पैगेम्बर के राह पर चलने वाले सभी रोजेदारों ने एक माह तक रोजा रखकर अल्लाह से देश के सभी वर्ग व धर्म के लोगों की सलामती की दुआ मांगते हैं। ईद के नमाज के बाद रोजेदारों ने अल्लाह से दुआ मांगी। उन्होंने अपनी गुनाहों के मफरत यानि माफी मांगी। उन्होंने अल्लाह से कहा कि हे अल्ला उन्होंने 29 रमजान पूरा किया है। इसके लिए उन्हें ऐसे दुआ दे कि समाज के जो लोग उनके बात नहीं करते हैं, वे लोग बात करना शुरू कर दें।

साढ़े नौ बजे से दस बजे के बीच पढ़ी गई ईद की नमाज: नगर निगम क्षेत्र में ललियाही ईदगाह और रामपाड़ा ईदगाह में सुबह साढ़े नौ बजे से दस बजे के बीच ईद की नमाज पढ़ी गई। नमाज अदा करने के लिए सुबह सात बजे ही रोजेदार ईदगाह पहुंचने लगे थे। ईदगाह में रोजेदारों के लिए कपड़ा का शेड और बिजली के पंखा की व्यवस्था की गई थी। जिन रोजेदारों को ईदगाह परिसर के अंदर नमाज पढ़ने के लिए जगह नहीं मिली। वे लोग ईदगाह के मुख्य द्वार के पास स्थित पक्की सड़क पर चादर बिछा कर नवाज अदा की।

रोजेदारों के लिए की गई थी पेयजल की व्यवस्था:ललियाही ईदगाह में ईद की नमाज पढ़ने पहुंचे रोजेदारों के लिए नगर निगम की ओर से शुद्ध पेयजल की व्यवस्था की गई थी। निगम के अलावा कलीमुद्दीन के सहयोग से भी रोजेदारों को पेयजल उपलब्ध कराया गया। उन्होंने कहा कि यहां के लोग आपसी भाईचारा का प्रतीक है। इस साल भी नगर निगम के कैलाश चौधरी, कालीचरण पासवान, श्याम, शालू, शंभू, कैलाश चौधरी, विनोद गिरी, श्रीकांत परिहार आदि लोगों ने पेयजल पिला कर भाईचारे का संदेश दिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Eid celebrated with mutual brotherhood and harmony in the district