Bhua bore is reaching 70 percent of the crops - भुआ कीट 70 फीसदी फसलों को पहुंचा रहा है नुकसान DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भुआ कीट 70 फीसदी फसलों को पहुंचा रहा है नुकसान

भुआ कीट 70 फीसदी फसलों को पहुंचा रहा है नुकसान

पूर्णिया व कोसी प्रमंडल के किसानों के लिए इन दिनों भुआ कीट अभिशाप बनते जा रहा है। खासकर जूट, सूर्यमुखी व मूंग की खेती करनेवाले किसान इस प्रजाति के कीट से सर्वाधिक परेशान हो रहे हैं। बताया जाता है कि 40 दिनों के अंदर यह कीट 70 फीसदी फसल को बर्बाद कर देता है। आठ जिले में इस कीट का प्रभाव देखने को मिल रहा है।

कैसे करेंगे किसान कीट प्रबंधन: इस बाबत पाट अनुसंधान केन्द्र के कीट वैज्ञानिक अनिल कुमार ने बताया कि शुरुआत में झुण्ड की तरह पत्तियों के निचले सिरे में होनेवाले ऐसे कीटों के समूह को पत्ती सहित केरोसिन तेल से भिगोकर उसे जला देना चाहिए। साथ ही उसे मिट्टी के अंदर डाल देने से विराम लगता है। वहीं किसान चाहे तो सर्फ या सेम्पू को पानी में घोल कर छिड़काव कर उससे निजात पा सकते हैं। इसके अलावा 5 से 10 एमएल भेलाथियोन प्रति लीटर पानी में घोलकर छिड़काव करने तथा फोलीडॉन डस्ट पाउडर को 10 किलो प्रति एकड़ में भुड़काव कर इसे नियंत्रित किया जा सकता है। कीट के बड़ा होने पर क्लोरेपाइरीफोस 3 से 4 लीटर पानी में घोलकर छिड़काव करने से विराम लगाया जा सकता है।बताते चलें कि पूर्णिया प्रमंडल में सर्वाधिक जूट की खेती होने के कारण इस परिक्षेत्र को जूट नगरी के नाम से जाना जाता रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Bhua bore is reaching 70 percent of the crops