DA Image
8 अगस्त, 2020|5:37|IST

अगली स्टोरी

दुखदायी रहा फिल्मी जगत के लिए अप्रैल माह

default image

युवा रंगकर्मी आलोक कुमार एवं कटिहार डांस अकादमी के निदेशक शिव कुमार कामती उर्फ तुली ने प्रख्यात रंगकर्मी ऋषि कपूर, उषा गांगुली, इरफान खान के असामयिक निधन पर गहरा दु:ख जताया है।

उन्होंने कहा कि दु:खद समय चल रहा है। अप्रैल का महीना रंगकर्म व फिल्म जगत के लिए काफी दुखदायी रहा है। रंगकर्मी उषा गांगुली से मुलाकात बिहार इप्टा का गोल्डेन जुबली फेस्टिवल 1994 में हुआ था। बड़ी सौभाग्य से उनके कला से रु-ब-रू होने का मौका मिला था। इरफान खान ने रंगकर्म से फिल्मी जगत में अपना अभियान का जलवा बिखेरा था। ऋषि कपूर ने अपने अभिनय से रंगकर्मियों को भी प्रभावित किया था। उनका अभिनय जीवन अपने आप में एक एक्टिंग स्कूल की तरह था। एक ही माह में तीन कलाकार का दुनिया से चला जाना रंगकर्म व फिल्मी जगत के लिए क्षति है। मौके पर संगीत शिक्षक कृष्ण कुमार कौशिक, रंगकर्मी प्रवीण कुमार ठाकुर, चंदन कुमार, मनोज कुमार, रीता भट्टाचार्य, सुधीर कुमार मिश्रा, चंदन कुमार मिश्रा, रीता, सुतापा भादुरी, ऋचा चौधरी, विजय दास, अर्जुन दास, आशुतोष ठाकुर, राजकुमार साह, कौशक कर, रीना कुमारी, दिनेश पासवान आदि ने दु:ख जताया है।

ऋषि कपूर के निधन पर शोक

समेली/कटिहार। हिन्दी सिने जगत के कलाकार ऋषि कपूर के असामयिक निधन पर युवाओं ने गहरी शोक संवेदना प्रकट की है। समाजिक कार्यकर्ता अमित पंडित, पवन कुमार, मनोज ठाकुर, निर्मल ठाकुर, खुशवंत, जसवंत, रवि गुप्ता, रवि रंजन, प्रसादी पंडित, मोहन पंडित, सिंकू यादव, प्रवीण कुमार, चमन प्रदीप, बबलू पंडित, मुखिया कृष्ण देव शर्मा, सरपंच दिलीप मंडल, नरेश ठाकुर आदि ने क्षति बताया।

सदाबहार नायक के निधन पर शोक: सिने जगत के सदाबहार नायक ऋषि कपूर के असमायिक निधन सिने जगत के लिए अपूरणीय क्षति है। पूर्णिया विश्वविद्यालय के सिनेट सदस्य शिवशंकर सरकार ने उनके निधन पर श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए कहा कि शोक का माहौल है। श्री सरकार ने कहा कि वॉलीवुड में एक नामचीन कलाकार के रुप में उन्होंने फिल्मों में अपना व्यापक योगदान दिया है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:April was a sad month for the film industry