DA Image
2 अप्रैल, 2020|10:19|IST

अगली स्टोरी

नरसंहार बनाम विकास के बीच होगी लड़ाई : दामोदर

default image

अगले कुछ महीने में बिहार में होने वाला विधान सभा चुनाव नरसंहार बनाम विकास के बीच होगा जिसमें विकास की एक बार फिर जीत होगी। उक्त बातें जमुई जिला जदयू के जिलाध्यक्ष दामोदर रावत ने स्थानीय शिल्पा भवन में जमुई विधान सभा के बूथ अध्यक्ष एवं सचिवों के प्रशिक्षण शिविर को संबोधित करते हुए कहीं।

अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि आरजेडी के 15 वर्षों के शासनकाल में बिहार में 118 नरसंहार हुए जबकि नीतीश कुमार के 15 वर्षों के शासनकाल में बिहार एक भी नरसंहार का गवाह नहीं बना। उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार ने इन 15 सालों में बिहार में सुशासन का राज्य स्थापित किया। दामोदर रावत ने कहा कि जदयू गांधी, लोहिया, अंबेडकर के पदचिन्हों पर चलते हुए इन 15 वर्षों में समाज के अंतिम पायदान तक के लोगों को विकास का लाभ पहुंचा। प्रशिक्षण शिविर की अध्यक्षता जमुई विधान सभा प्रभारी पंकज सिंह ने की जबकि मंच संचालन पूर्व जदयू जिलाध्यक्ष शिवशंकर चौधरी ने किया। अपने संबोधन में जदयू जिलाध्यक्ष दामोदार रावत ने कहा कि सबल पंचायत सक्रिय बूथ अभियान के तहत बिहार के सभी विधान सभा में बूथ स्तर के अध्यक्ष एवं सचिवों का प्रशिक्षण शिविर चल रहा है जिसका उद्देश्य पार्टी के सभी कार्यकर्ताओं को पार्टी के विचार धाराओं से अवगत कराना है।

उन्होंने कहा कि सात निश्चय के तहत बिहार के सभी गांवों में हर घर बिजली, सड़क, हर घर नल-जल जैसे महत्वपूर्ण कार्यों को अंजाम दिया गया है। उन्होंने उपस्थित कार्यकर्ताओं का अहवान करते हुए कहा कि आगामी एक मार्च को पटना के गांधी मैदान में होने वाले कार्यकर्ता सम्मेलन में बढ़-चढ़कर हिस्सा लें। इस मौके पर जदयू महिला प्रकोष्ठ की जिलाध्यक्ष सुनीता कुमारी ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा किये जा रहे सामाजिक कार्यों को पार्टी के एक-एक कार्यकर्ता हर घर तक पहुंचाने का कार्य करें तभी पार्टी को और मजबूती मिलेगी। प्रशिक्षण शिविर में क्षेत्रीय संगठन प्रभारी पंचम श्रीवास्तव, जिला संगठन प्रभारी अर्जुन प्रसाद, ई. शंभूशरण, सिंधु पासवान, राकेश पासवान, ठाकुर नवीन सिंह, महेश रावत, सिमरन प्रिया आदि उपस्थित थे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:The fight between massacre versus development Damodar