ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहार जमुईस्कूलों में कमजोर विद्यार्थियों को दक्ष करने जुटेंगे शिक्षक

स्कूलों में कमजोर विद्यार्थियों को दक्ष करने जुटेंगे शिक्षक

पढ़ने में कमजोर बच्चों को चिन्हित कर उसे समान छात्र-छात्राओं के श्रेणी में लाने के उद्देश्य से शिक्षा विभाग द्वारा नई पहल शुरू की गई है। विभाग के अपर...

स्कूलों में कमजोर विद्यार्थियों को दक्ष करने जुटेंगे शिक्षक
हिन्दुस्तान टीम,जमुईThu, 30 Nov 2023 12:45 AM
ऐप पर पढ़ें

झाझा । निज प्रतिनिधि
पढ़ने में कमजोर बच्चों को चिन्हित कर उसे समान छात्र-छात्राओं के श्रेणी में लाने के उद्देश्य से शिक्षा विभाग द्वारा नई पहल शुरू की गई है। विभाग के अपर मुख्य सचिव केके पाठक के निर्देश पर दक्ष मिशन का संचालन एक दिसंबर से सभी विद्यालयों में प्रारंभ किया जाएगा। दक्ष मिशन के तहत तीसरी कक्षा से लेकर 12 वीं तक के पढ़ाई-लिखाई में कमजोर बच्चों को चयन किया जाएगा।

कमजोर बच्चों का मापदंड हिंदी इंग्लिश रीडिंग के साथ-साथ कक्षा के अनुरूप गणित विषय के सामान्य जानकारी नहीं होना निश्चित किया गया है। इसके तहत कमजोर छात्र-छात्राओं को चयनित कर विशेष रूप से पढ़ाने की व्यवस्था की जाएगी। विद्यालय के शिक्षकों को कमजोर छात्र-छात्राओं को पढ़ने का विशेष निर्देश जारी किया गया है। विशेष निर्देश के तहत एक शिक्षक को पांच बच्चों की जिम्मेदारी पठन-पाठन की निम्नस्तर से उठाकर समान रूप में लाने की होगी। इसके तरह कमजोर पांच बच्चों को गोद लेने की जिम्मेदारी एक शिक्षक को दी गई है। दो माह के बाद चयनित छात्र-छात्राओं का मूल्यांकन किया जाएगा उसके बाद यह तय की जाएगी आगे इसकी विशेष कक्षा की जरूरत है या नहीं। फिलहाल सरकार के निर्देशानुसार जिले के सभी विद्यालयों में इसकी पहल शुरू हो गई है।

पहले भी हो चुका है ट्यूटोरियल क्लास

इससे पहले भी कमजोर बच्चों की स्थिति को सुधारने के उद्देश्य से ट्यूटोरियल क्लास का संचालन किया गया था। लेकिन शुरुआती दौर में यह व्यवस्था तो ठीक रही लेकिन बाद में यह अन्य योजनाओं की तहत गर्त में चली गई। ट्यूटोरियल क्लास के तहत कमजोर छात्राओं के साथ-साथ विद्यालयों को गोद लेने की निर्देश विभाग के अधिकारियों को की गई थी। लेकिन धरातल पर यह योजना नहीं पहुंच सकी। हालांकि वर्तमान समय में व्यवस्था की जिम्मेदारी केके पाठक जैसे अधिकारी को मिली है। इससे यह उम्मीद की जा सकती है कि यह मिशन पूरी तरह से सफल साबित होगी।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें