DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

छाया रहा कोहरा, आम जन जीवन हुआ प्रभावित

छाया रहा कोहरा, आम जन जीवन हुआ प्रभावित

वर्ष 2017 के अंतिम सप्ताह में मौसम करबट ली है। अचानक तापमान में गिराबट होने से कनकनी बढ़ गयी है। जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। बुधवार की सुबह आसमान में घना कोहरा छाया रहा। वहीं पछूआ हवा तेज चलने के कारण लोगों की परेशानी बढ़ गयी। सुबह 12 बजे तक आसमान में भगवान सूर्य नजर नहीं आये। दोपहर बाद सूर्य और बादल के बीच लुका-छिपी का खेल जारी रहा।

सुबह में घना कोहरा रहने के कारण बच्चों को स्कूल जाने में काफी परेशानी हुई। बच्चे गर्म वस्त्र धारण कर स्कूल जा रहे थे। गर्म कपड़े धारण करने के बावजूद भी ठंड से बच्चे ठिठुर रहे थे। महिसौड़ी चौक के समीप निजी विद्यालय में पढ़ने जा रहे मयंक कुमार, कन्हैया कुमार ने कहा कि ठंड बढ़ गयी है। जिसके कारण स्कूल जाने में काफी परेशानी हो रही है। ठंड के कारण सुबह 10 बजे तक सड़कों पर आवाजाही काफी कम हो रही थी। इक्के-दुक्के लोग ही आ-जा रहे थे। जिन्हें बाहर जाना था ऐसे लोग ही सड़कों पर नजर आ रहे थे। ठंड के कारण यात्रा करने वाले लोगों को अधिक परेशानी उठानी पड़ी।

स्टैंड के समीप यात्री चाय की दुकान में चाय की चुस्की लेकर ठंड से बचने का प्रयास कर रहे थे। झाझा स्टैंड के समीप महाराजगंज निवासी शैलेश कुमार ने बताया कि जरूरी काम से रांची जाना है। इस मौसम में बस पर यात्रा करने में काफी कठिनाई होगी। बच्चों ने कहा ठंड को देखते हुए स्कूल बंद कराएं डीएम अंकल : अचानक मौसम का मिजाज बदलने के साथ ही कनकनी बढ़ गयी है। बुधवार को इस माह का सबसे अधिक ठंड लोगों को महसूस हुआ। फिलहाल सरकारी तथा निजी विद्यालय खुले हैं।

कन्या मध्य विद्यालय में पढ़ने जा रही छात्रा नवीता कुमारी, आशा कुमारी समेत कई लोगों ने कहा कि डीएम अंकल को स्कूल बंद कराने की जरूरत है। ठंड काफी बढ़ गयी है। पढ़ने में काफी परेशानी होगी।

कोहरा के कारण वाहनों की रफ्तार पर लगी ब्रेक: बुधवार की सुबह 11 बजे तक घना कोहरा छाया रहा। नतीजतन वाहनों की रफ्तार पर ब्रेक लगी हुई थी। धीमी गति से वाहनों का परिचालन हो रहा था। शहर से गुजरने वाले वाहन चालक फॉग लाइट जलाकर आवाजाही कर रहे थे। देवघर से नवादा जाने वाले एक वाहन चालक सुरेश प्रसाद ने बताया कि घना कोहरा छाए रहने के कारण देवघर से जमुई पहुंचने में चार घंटे लगे हैं। कई वाहन चालक ठंड से बचने के लिए लाइन होटल में वाहन रोककर अलाव का सहारा ले रहे थे।

शाम ढ़लते ही बाजार में भी पसरा सन्नाटा: ठंड के कारण बाजार पर भी इसका असर देखने को मिला। बुधवार की शाम 6 बजे से ही दुकानें बंद होने लगी। लोग घर जाने के लिए परेशान दिखे। महिलाएं बाजार से आवश्यक सामानों की खरीदारी कर घर लौट रही थी।ठंड के कारण चौक-चौराहों पर भी लोगों की उपस्थिति कम रही। शाम सात बजे के बाद बाजार में सन्नाटा छा गया। महाराजगंज, कचहरी चौक, बोधवन तालाव रोड, पुरानी बाजार समेत अन्य जगहों पर दुकानें बंद हो गयी। इक्का-दुक्का दुकानें ही खुली थी। दुकानदार रमेश कुमार ने बताया कि ठंड के कारण ग्राहक नहीं हैं। जिसके कारण दुकान बंद कर घर जा रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Shadow fog, general public life affected