Preparations for the rani Sati Festival at Jhasar - झाझा में राणी सती महोत्सव की तैयारियां परवान पर DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

झाझा में राणी सती महोत्सव की तैयारियां परवान पर

झाझा में राणी सती महोत्सव की तैयारियां परवान पर

मां राणी सती महोत्सव की तैयारियां परवान पर हैं। झाझा में राणी सती महोत्सव की यह तीसरी वर्षगांठ होगी। तीन साल पूर्व तक मां राणी सती के भक्तों को अपनी प्यारी दादी के दर्शन को हजारों किमी की दूरी तय कर राजस्थान के झुंझनू तक की दौड़ लगानी होती थी किंतु,एक बार फिर दादी के झाझावासी भक्तों को झाझा में ही झूंझनू की झलक दिखाने की तैयारियां शबाब पर हैं। माना जा रहा है कि आगामी रवि व सोमवार को झाझा में झूंझनू मंदिर के नजारे का ही रीप्ले नजर आएगा। रविवार से शुरू हो रहे दो दिवसीय विराट महोत्सव के दौरान भक्तों की आत्मा तृप्ति के लिए आयोजकों ने इस दफा काफी कुछ परोसने की तैयारी कर रखी है। रविवार की रंगारंग भजन संध्या में स्थानीय भजन मंडलियों के साथ बंगाल के रानीगंज गायक जयराम पांडेय भजनों की रसधार बहाएंगे। तो अगली सुबह महिलाएं नारायणी पाठ में मशगुल हुई मिलेंगी। पाठ के पूर्व सोमवार की सुबह साढ़े सात बजे से अनेकों जोड़ों द्वारा दादी की जात देते हुए ज्योत भी जगाई जाएगी। सजाया जा रहा है पूरा मंदिर परिसर: महोत्सव के दो दिवसीय आयोजन की सारी गतिविधियां सत्यनारायण मंदिर (ठाकुरबाड़ी) में आयोजित होंगी। वार्षिक महोत्सव के मद्देनजर देवों के दरबार समेत पूरे मंदिर परिसर को फू लों समेत अन्य विविध प्रकार की साज-सज्जा से नया लुक दिया जा रहा है। बताते हैं कि इन तैयारियों में लगे दादी भक्तों की कोशिश है कि मंदिर परिसर में राजस्थानी संस्कृति की धमक-चमक का कुछ ऐसा नजारा हो कि भक्तों को झाझा में ही दिख जाए झुंझनू की झलक। आयोजन के नेपथ्य में रामावतार,आनंद व राजन पोद्दार समेत संजय,ललित,पवन व संजय जालान,रवि अग्रवाल,अजय छापड़िया,देवी प्रसाद व दीपक सुल्तानियां,हेमंत बंका,पं.नवीन ओझा के अलावा समाज के सैकड़ों लोग योगदान कर रहे बताए जाते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Preparations for the rani Sati Festival at Jhasar