DA Image
30 मार्च, 2020|2:51|IST

अगली स्टोरी

दो झपटमार को पुलिस ने किया गिरफ्तार

default image

शहर में छिनतई की घटना को लगातार अंजाम देने वाले कोढ़ा गिरोह की साजिश से बुधवार को कई लोग बच गए। गिरोह के 4 सदस्यों ने कई जगह पर लोगों को निशाना बनाने की योजना बनाई थी। कई बैंक शाखाओं के ईद—गिर्द उन युवकों की गतिविधि देखी जा रही थी।

गिरोह के सदस्यों की योजना लीक हो गई और पुलिस की स्पेशल टीम ने दो युवकों को बाइक समेत पकड़ लिया। विश्वस्त सूत्र की मानें तो दोनों युवक नवादा में लूट की घटना को अंजाम देने के बाद जमुई पहुंचे थे। कुल 4 युवक इस मामले में शामिल थे। हालांकि पुलिस की सक्रियता को देखकर दो युवक भागने में सफल हो गए लेकिन गिरफ्तार दोनों युवकों से पुलिस कड़ाई से पूछताछ कर रही है। बताते चलें कि बीते कई वर्षों से जमुई में कोढ़ा गिरोह का आतंक लोगों के सर चढ़कर बोल रहा है। बैंक के आसपास गिरोह के सदस्य सक्रिय होते हैं। बैंक से पैसा निकाल कर जैसे ही लोग अपने घर या प्रतिष्ठान की ओर निकलते हैं झपटा मारकर बाइक सवार युवक फरार हो जाते हैं। इन लोगों के नेटवर्क का पता नहीं चल पाता है। क्योंकि ये लोग कटिहार जिले के कोढ़ा के रहने वाले होते हैं। जेल जाने के बाद इनके गिरोह के अन्य लोग जमानत के लिए लग जाते हैं और फिर जमानत मिलने के बाद दूसरे शहर में इसी तरह की घटना को अंजाम देते हैं। हालांकि पकड़े गए युवक के पास से क्या क्या बरामद हुआ है इसका स्पष्ट पता नहीं चल सका है। पुलिस भी इस मामले में अभी तक कुछ भी बताने को तैयार नहीं है। फिलहाल संभावना जताई जा रही है कि गिरफ्तार युवकों की निशानदेही पर पुलिस छापेमारी कर रही है। कहा तो यह भी जाता है कि जमुई में घटना को अंजाम देने के लिए युवक लखीसराय में ठहरते हैं ताकि घटना को अंजाम देकर दूसरे जिले में प्रवेश कर जाते हैं। पुलिस को चकमा देने में ये माहिर होते हैं। ये लोगों को आसानी से निशाना बना लेते हैं।