DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सावन की पहली सोमवारी पर सजा भोले का दरबार

सावन की पहली सोमवारी पर सजा भोले का दरबार

सावन की पहली सोमवारी 30 जुलाई को है। पहली सोमवारी को लेकर भोले नाथ का दरबार सज चुका है। मंदिर कमेटी के सदस्यों के द्वारा बाबा का दरबार सजाया गया है।

पहली सोमवारी को विभिन्न शिवालयों में पंडितों के द्वारा विशेष पूजा का आयोजन किया जाएगा। बेलपत्र, चंदन , घी, पुष्प, दही गुड़ दूध आदि से अभिषेक किया जाएगा। गंगा जल से बाबा को स्नान कराया जाएगा। इसके बाद ही भक्तों के लिए मंदिरों का पट खोल दिया जाएगा।

पहली सोमवारी को लेकर श्रद्धालुओं में काफी उत्साह है। लोगों ने सोमवारी व्रत का अनुष्ठान करने के लिए रविवार को नहाय खाय किया। रविवार को सोमवारी व्रत करने वाले श्रद्धालु पूजा के सामानों की खरीदारी कर रहे थे। लखीसराय जिले के बड़हिया स्थित गंगा नदी से गंगा जल मंगाया जा रहा था। जिले के पत्नेश्वर, बाबा धनेश्वरनाथ मंदिर, बाबा गिद्धेश्वर नाथ मंदिर, मनमहेश मंदिर समेत अन्य ऐतिहासिक शिवालयों में हर-हर महादेव की जयघोष सुनाई पड़ेगी। पूरे आस्था के साथ बाबा का दरबार सजाया गया है। ऐतिहासिक और पौराणिक शिवालयों में लाइट की पूरी व्यवस्था की गई है।

वहीं महादेव सिमरिया स्थित धनेश्वर नाथ मंदिर में असामाजिक तत्वों पर नजर रखने के लिए सीसीटीवी लगाया गया है। महादेव सिमरिया स्थित धनेश्वर नाथ मंदिर में जमुई के अलावा नवादा, नालंदा, शेखपुरा समेत अन्य जिलों से श्रद्धालु आते हैं। जमुई शहर के विभिन्न मोहल्लों से पहली सोमवारी को शोभायात्रा निकाली जाएगी। गाजे-बाजे के साथ शोभायात्रा में लोग शामिल होंगे। जमुई शहर के विभिन्न मोहल्लों से 11 किलोमीटर पैदल यात्रा कर श्रद्धालु भोलेनाथ पर जलाभिषेक करेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Naive's court on the first Monday of Savan