My teacher taught me to be positive DM - मेरे शिक्षक ने मुझे सकारात्मक होना सिखाया : जिलाधिकारी DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मेरे शिक्षक ने मुझे सकारात्मक होना सिखाया : जिलाधिकारी


मेरे शिक्षक ने मुझे सकारात्मक होना सिखाया : जिलाधिकारी

जमुई के डीएम धर्मेन्द्र कुमार ने शिक्षक दिवस पर अपने अनुभव को साझा करते हुए बताया कि अपने जीवन के इस मुकाम पर जब मैं अपने विद्यार्थी जीवन के 20 वषोंर् को देखता हूूं तो कई शिक्षकों के चेहरे सामने आते हैं। वे अगर मेरे जीवन में न आते तो आज मैं इस जगह पर नहीं होता।

इन सबमें सबसे महत्वपूर्ण श्री रामानारायण सिंह थे, जो कक्षा दस तक मेरे हिन्दी के अध्यापक थे। सफेद बाल, खादी का कुर्ता, सफेद धोती , रौबदार चेहरा, जिन्हें देखकर एक अलग ही युग के दर्शन होते थे। गांधीवादी विचारधारा से प्रभावित सदैव सत्य बोलनेवाले एवं स्वयं अति अनुशासित जीवन जीनेवले मेरे गुरु ने मेरे अंदर से कितने नकारात्मक विचारों को निकालकर सात्विक मूल्यों का समावेश किया और यह प्रक्रिया इतनी सहज एवं प्राकृतिक थी कि उसका अहसास अब मुझे हो रहा है। आज के इस भौतिकवादी एवं मूल्यविहीनता की ओर अग्रसर हो रहे समाज को ऐसे ही आदर्श शिक्षकों की आवश्यकता है, जो न केवल हमारी सफलता का मार्ग प्रशस्त करें बल्कि हमें सामाजिक सरोकारों को समझनेवाले एक आदर्श नागरिक के रूप में भी परिवर्तित करे।

विद्यार्थी जीवन की शुरुआत से ही एक अच्छा एवं अनुशासित छात्र होने के कारण लगभग सभी शिक्षकों का समान प्रेम एवं आशीर्वाद प्राप्त हुआ। चृंकी मेरी पृष्ठभूमि ग्रामीण रही है इसलिए शिक्षक मेरे लिए केवल ज्ञान का स्रोत ही नहीं, बल्कि कई मायनों में मेरेआदर्श भी थे। आज की तरह पूर्व में कैरियर मार्गदर्शन का कार्य भी शिक्षक ही करते थे। अनुशासित जीवन एवं सफल विद्यार्थी के गुण सिखाने के साथ-साथ शिक्षकगण हमारे अंदर आदर्श संस्कारों को भी समाहित करते थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:My teacher taught me to be positive DM