DA Image
22 सितम्बर, 2020|11:50|IST

अगली स्टोरी

जमुई: बाबा दुबे की भक्ति भाव से की गई पूजा-अर्चना

default image

जमुई: सदियों से चली आ रही परंपरा के मुताबिक भादो मास के अंतिम सोमवारी के दिन देर रात को बाबा दुबे के भक्तजनों द्वारा भक्ति-भाव से पूजा अर्चना की गयी। कियाजोरी पंचायत के कियाजोरी गांव स्थित बाबा दुबे की मंदिर में सोमवार रात बड़े ही हर्सोल्लास के साथ बाबा की पूजा अर्चना कर भक्तों ने प्रसाद ग्रहण किया। तत्पश्चात पूजा के बाद ब्राह्ममण भोज की परंपरा सदियों से चली आ रही प्रथा के मुताबिक की गयी। इस ब्राह्मण भोज में दर्जनों गांव के सैकड़ों ब्राह्मण बाबा दुबे के दरवार में पहुंचकर ब्राह्मण भोज करते हैं। बताते चलें कि इस मंदिर की मान्यता है कि किसी भी वीशैला सर्प किसी ब्यक्ति को काट लेने के बाद बाबा दुबे के प्रांगण में पहुंचकर बाबा का आराधना करने के बाद वहां पर मौजूद पंडित द्वारा जल रूपी अमृतपान कराने के बाद उस ब्यक्ति के शरीर से वीष निकल जाता है और वह ब्यक्ति ठीक होकर घर चले जाते हैं। बाबा दुबे के पूजा के दिन पांच कोस की परिधि में पड़ने वाले गांव से पूजा के लिये लोगों द्वारा दूध लाकर उसे खीर बनवाकर ब्रह्मानभोज करवाते हैं। यह मंदिर चकाई प्रखंड के नामी मंदिरों में से एक है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Jamui Worship of Baba Dubey with devotion