DA Image
3 जुलाई, 2020|3:12|IST

अगली स्टोरी

जमुई: क्वरेंटिंन सेंटर सेनेटाइज नहीं कराये जाने से संक्रमण को ले भयभीत है सेंटर पर रहने वाले प्रवासी

default image

जमुई : प्रखंड के जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान में क्वरेंटिंन सेंटर संचालित हो रहा है। जिसमें अब रेड जोन से आए प्रवासी को रखा जाता है। जानकारी के अनुसार कोरोना वायरस का संक्रमण ना हो इसके लिए सेंटर को 24 घंटा में तीन बार सेनीटाइज करने का प्रावधान किया गया है। लेकिन वैसा नहीं किया जा रहा है। जिससे वहां रह रहे प्रवासी कोरोना संक्रमण से भयभीत हैं। बावजूद इसके पदाधिकारी इस कोरोना वायरस से जुड़े गंभीरता को लेकर उदासीन बने हुए हैं। यहां यह बतातें चले कि गुरुवार को महुली गांव का जो युवक कोरोना पॉजिटिव पाया गया था। वह भी इस क्वरेंटिंन सेंटर पर एक सप्ताह रहा था। गिद्धौर स्थित क्वरेंटिंन सेंटर में सेनिटाइज करने के लिए मशीन और सेनेटाइजर प्रचुर मात्रा में उपलब्ध है। बावजूद इसके सेंटर का सेनेटाइजेशन नहीं करवाना एक बड़ी खतरे की घण्टी है। वहीं सेंटर पर नियुक्त कर्मीं ने बताया कि सेंटर के बाहर भी हमलोग के लिए सुरक्षा को लेकर उपयुक्त सामग्री स्थानीय प्रसासन की ओर से उपलब्ध नही कराया जाता है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Jamui Quarantine Center is afraid of sanitation because of the infection migrants living at the center