DA Image
27 अक्तूबर, 2020|3:11|IST

अगली स्टोरी

जमुई: वनक्षेत्र की सेंकडो एकड़ भूमि पर भूमाफियाओं की नजर,

default image

जमुई: लक्ष्मीपुर के कोहबरवा वन परिसर स्थित वनक्षेत्र की सेंकडो एकड़ भूमि पर स्थानीय भू माफियाओं की नजर है।जो धीरे धीरे वैसे भूमि पर अपना कब्जा जमाए हैं।साथ ही वनों की कटाई कर उसे खेत बना रहे हैं।साथ ही पूर्व में वैसे जमीन को भूमाफिया अपने नाम से बन्दोवस्त भी करा लिए हैं। जिसका पता विभाग को नहीं है। अगर है भी तो वे चुप्पी साधे हैं। इसके बाद खाली जमीन पर कब्जा कायम रहे। इसके लिए बीच बीच मे भूमाफियाओं की बन्दूकें गरजती है। जैसा कि बीते माह अगस्त में पटेश जंगल मे देखा गया। जहां वनक्षेत्र की भूमि पर अपना कब्जा कायम करने के लिय भूमाफियाओं ने हथियार लहराते हुए फायरिंग किया। स्थिति को देखते हुए पुलिस के जवान मोर्चा संभालते हुए स्थिति को नियंत्रण किया। साथ ही एक दबंग भूमाफिया और उसके गुर्गे को गिरफ्तार किया। ठीक उससे लगभग दो किलोमीटर दूर पूर्व औऱ दक्षिण दिशा में पटेश शिव मंदिर के समीप वनक्षेत्र के एक बड़े भूभाग पर अनुसूची और अनुसूचित जन जाति के लोगों ने कब्जा जमाते हुए झोपड़ी डाल दिया हौ।साथ ही जल,जंगल और जमीन का नारा देते हुए स्थाई कब्जा जमाने की दिशा में अग्रसर है।जिसका विरोध दबे स्वर में समीप के गांव कर रहे हैं।बताया जाता है कि इस मामले को लेकर अज्ञात के विरुद्ध लक्ष्मीपुर थाना में प्राथमिकी भी दर्ज किया गया है।इसके अतिरिक्त भी खेती योग्य भूमि पर सफेद पोश लोग कब्जा जमाए बैठे हैं।जिसे शुभ संकेत नहीं कहा जा सकता है।सूत्रों की मानें तो भूमाफियाओं द्वारा जमीन पर कब्जा एक सोची समझी नीति के तहत किया जाता है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Jamui Landfields look at hundreds of acres of forest area