DA Image
24 जनवरी, 2021|11:40|IST

अगली स्टोरी

जमुई: नए साल में 2083 रिक्त पदों पर शिक्षकों का होगा नियोजन दूर की पंचायत या दूसरे गांव या शहर में जाकर हाई स्कूल की पढ़ाई नहीं करनी होगी। अपनी पंचायत व गांव के नजदीक के स्कूल में ही उन्हें हाई स्कूल की पढ़ाई की सुविधा मिलेगी।

default image

नए साल में 2083 रिक्त पदों पर शिक्षकों का होगा नियोजन , नए वर्ष में शिक्षक नियोजन की चयन प्रक्रिया पूरी करने के बाद मिलेगा नियुक्ति पत्र

प्रारंभिक स्कूलों के रिक्त पदों पर शिक्षकों की बहाली से पठन पाठन होगा सुचारू

वर्ग एक से पांच के 1552 जबकि वर्ग 6 से 8 के 531 हैं रिक्त पद

फोटो -12 - शहर के मध्य स्थित प्लस टू हाई स्कूल जमुई

जमुई । नगर प्रतिनिधि

नए साल में जिले के विभिन्न प्रारंभिक स्कूलों में 2083 रिक्त पदों पर शिक्षकों का नियोजन होगा। इसको लेकर जिले में पूर्व से ही नियोजन की प्रक्रिया चल रही है जिसके तहत सभी नियोजन इकाईयों को मेधा सूची प्रकाशित करने का निर्देश दिया गया है। साथ ही जिले के एनआईसी की वेबसाइट पर अपलोड करने को भी कहा गया है।

इसके बाद काउंसिलिंग की प्रक्रिया कर नए साल में ही चयनित अभ्यर्थियों को नियोजन पत्र निर्गत किए जाएंगे जिससे प्रारंभिक स्कूलों के रिक्त पदों पर शिक्षकों की बहाली होगी।

शुरू होगी पंचायतों में नौंवी की पढ़ाई:

नए साल में जिले की पंचायतों में हाई स्कूल की पढ़ाई की सुविधा का शुभारंभ होगा। ये वैसी पंचायतें हैं जहां अभी तक हाई स्कूल संचालित नहीं हैं। अब इन पंचायतों में संचालित चयनित मिडिल व अपग्रेड मिडिल स्कूल में पहली बार नए साल में नौंवी कक्षा की पढ़ाई शुरू होगी जिसके तहत आगामी चार जनवरी को पहली कक्षा का संचालन किया जाएगा। वैसे इन स्कूलों में नौंवी की पढ़ाई एक अप्रैल 2020 को ही शुरू होनी थी लेकिन, कोरोना काल के कारण इसे स्थगित कर दिया गया। बाद में अगस्त 2020 में सूबे के सीएम ने वर्चुअल तरीके से इन स्कूलों में नौंवी कक्ष के संचालन का उद्घाटन किया। उद्घाटन तो हो गया लेकिन कक्षा का संचालन कोरोना गाइडलाइंस में अनुमति नहीं मिलने के कारण नहीं हो सका। अब राज्य सरकार ने चार जनवरी 2021 से नौंवी कक्षा के संचालन की मंजूरी दे दी है। चालू सत्र 2020-21 के तहत ही चार जनवरी को चयनित मिडिल स्कूलों में नौंवी कक्षा की पढ़ाई शुरू हो जाएगी।

हजारों छात्रों को होगा लाभ:

कम से कम दो कमरों व जरूरी उपस्करों आदि की व्यवस्था कर ली गयी है। साथ ही शिक्षकों की प्रतिनियुक्ति भी कर ली गयी है। यहां बता दें कि हाई स्कूल वंचित पंचायतों में नौंवी की पढ़ाई शुरू होने से पंचायत के निवासी हजारों छात्र-छात्राओं को काफी लाभ मिलेगा। ये छात्र-छात्राएं अब अपनी पंचायत के ही स्कूल में नौंवी की पढ़ाई कर सकेंगे। इससे उन्हें दूर की पंचायत या दूसरे गांव या शहर में जाकर हाई स्कूल की पढ़ाई नहीं करनी होगी। अपनी पंचायत व गांव के नजदीक के स्कूल में ही उन्हें हाई स्कूल की पढ़ाई की सुविधा मिलेगी।

विभिन्न विषयों के शिक्षक होंगे बहाल

जिले के विभिन्न प्रखंडों में संचालित मिडिल स्कूलों में शिक्षकों के पद रिक्त हैं। जिले में कक्षा छह से आठ के लिए गणित व विज्ञान विषय में 52, हिन्दी में 177, अंग्रेजी में 95, उर्दू में 62, संस्कृत में 121 व सामाजिक विज्ञान में 24 पद रिक्त हैं। जबकि, इन्हीं स्कूलों की कक्षा एक से पांच के सामान्य विषय में 1237 व उर्दू में 315पद रिक्त हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Jamui In the new year there will be 2083 vacant posts teachers will not have to go to distant panchayat or other village or city to study high school He will get the facility of high school education in his panchayat and school near the village