DA Image
2 मार्च, 2021|4:06|IST

अगली स्टोरी

किसान और मजदूर विरोधी है सरकार

मजदूरों और किसानों की समस्या को लेकर मंगलवार को सीपीआई के कार्यकर्ताओं ने शहर में विरोध मार्च निकाला। इसके बाद पार्टी के कार्यकर्ताओं ने 10 सूत्री मांगों को लेकर कलेक्ट्रेट के समीप प्रदर्शन किया। इस मौके पर सभा का आयोजन किया गया। पूर्व विधायक राजेंद्र प्रसाद सिंह ने कहा कि केंद्र और सूबे की सरकार किसान और मजदूर विरोधी है। पूरे देश में किसानों की हालत दयनीय है।

मजदूरों को रोजगार नहीं मिल रहा है। महंगाई चरम सीमा पर है। उन्होंने कहा कि सरकार महंगाई पर रोक लगाए। इस मौके पर जिला सचिव नवल किशोर सिंह ने कहा कि जो लोग सांप्रादायिकता को बढ़ावा दे रहे है। ऐसे लोगों के खिलाफ सरकार कड़ी कार्रवाई करें। नेताओं ने यह भी कहा कि जमुई जिले में किसानों की हालत काफी खराब है। संपूर्ण जिला को अभाव क्षेत्र घोषित किया जाए। किसान और मजदूरों के कर्ज माफ हों। 60 वर्ष के आयु से अधिक किसानों और मजदूरों को मासिक पेंशन दिया जाए।

नेताओं ने यह भी कहा कि दुर्गा पूजा और मुहर्रम के दौरान जिन दुकानदारों को नुकसान हुआ है उन्हें शीघ्र मुआवजा दिया जाए। आंदोलन की अध्यक्षता गजाधर रजक नहीं की।इस मौके पर रामाश्रय सिंह, सुनील सिंह, गिरीश सिंह, जयप्रकाश रावत, गंगा वर्णवाल, रामनेरश कुमार, रूपेश कुमार सिंह समेत कई लोगों ने अपने विचार रखें। मांगों का ज्ञापन जिला प्रशासन को दिया गया।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Farmer and anti-labor government