ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहार जमुईगिद्धेश्वर मंदिर में भीड़, पुलिस ने खाली कराया

गिद्धेश्वर मंदिर में भीड़, पुलिस ने खाली कराया

जमुई जिला के गिद्धेश्वर मंदिर में सोमवार को वैशाखी पूर्णिमा पर श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ पड़ी। हजारों की संख्या में श्रद्धालु कोरोना वायरस के खौफ से बेखबर मंदिर में पूजा अर्चना करते दिखे। श्रद्धालुओं ने...

गिद्धेश्वर मंदिर में भीड़, पुलिस ने खाली कराया
Newswrapहिन्दुस्तान टीम,जमुईMon, 13 Apr 2020 10:40 PM
ऐप पर पढ़ें

जमुई जिला के गिद्धेश्वर मंदिर में सोमवार को वैशाखी पूर्णिमा पर श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ पड़ी। हजारों की संख्या में श्रद्धालु कोरोना वायरस के खौफ से बेखबर मंदिर में पूजा अर्चना करते दिखे। श्रद्धालुओं ने सोमवार को वैशाखी पूर्णिमा के मौके पर सारे नियमों का उल्लंघन करते हुए और सरकार के हर दिशा—निर्देश को धता बताते हुए जिस तरह की तस्वीर सामने आयी वो बेहद ही चिंतनीय है। हालांकि सूचना के बाद पुलिस मंदिर परिसर पहुंचकर भीड़ को खाली कराया।

मंदिर न्यास समिति और खैरा पुलिस की घोर लापरवाही के कारण मंदिर परिसर में श्रद्धालुओं की भीड़ लग गई। खैरा थाना द्वारा पहले से मंदिर में श्रद्धालुओं की भीड़ न लगे इसको लेकर एक भी पुलिस बल की तैनाती मंदिर परिसर में नहीं की गई थी। गिद्धेश्वर मंदिर के न्यास समिति के सदस्य रंजीत श्रीवास्तव को इस बात की सूचना पहले से थी कि मंदिरों में पूजा पर रोक है इसके बाबजूद श्रद्धालुओं को मंदिर में पूजा करने की इजाजत दे दी गई जो कहीं से भी इस संकट की घड़ी में उचित नहीं है। देशभर में कोरोना वायरस के बढ़ रहे प्रकोप को लेकर केन्द्र सरकार से लेकर राज्य सरकार तक सकते में है। हर रोज कोरोना संक्रमित मरीजों के मिलने की खबर ने सरकार की चिंता बढ़ा दी है। यही कारण कि अब केन्द्र सरकार लॉकडाउन की अवधि और बढ़ाने को लेकर विचार कर रही है और उम्मीद की जा रही है कि मंगलवार को इस बारे में कोई आधिकारिक घोषणा कर दी जाए। कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने को लेकर देशभर में पहले से 21 दिनों का लॉकडाउन लगा है। इस दौरान जरूरी सेवाओं को छोड़कर अन्य सभी चीजों पर प्रतिबंध है। धार्मिक आयोजनों पर भी रोक लगाई गई है। सोमवार को अहले सबेरे से ही मंदिर परिसर के अंदर और बाहर लोगों की लंबी कतार देखी गई। सामाजिक दूरी का जरा भी ख्याल नहीं रखा गया। श्रद्धालुओं में न तो कोरोना का खौफ दिखा और न ही पुलिस का डर। हजारों की संख्या में श्रद्धालु पूरे मन से भक्ति भाव में लीन दिखे। वैशाखी पूर्णिमा के मौके पर जैसे ही लोगों की उमड़ी भीड़ की सूचना खैरा प्रखंड के विकास पदाधिकारी और खैरा थानाध्यक्ष को मिली कि आनन—फानन में पूरे दलबल के साथ मंदिर परिसर जा पहुंचे और श्रद्धालुओं को समझा—बुझाकर मंदिर परिसर को खाली कराया। इस बाबत पूछे जाने पर खैरा के प्रखंड विकास पदाधिकारी अवतुल्य कुमार आर्य ने कहा कि मंदिर के न्यास समिति के सदस्य रंजीत श्रीवास्तव को इसकी सूचना पहले से दी गई थी कि मंदिर में सामूहिक पूजा पर रोक है इसके बाबजूद न्यास समिति द्वारा श्रद्धालुओं को पूजा करने की इजाजत दी गई जो कानून का उल्लंघन है। उन्होंने कहा कि इस आशय की जानकारी डीएम को दे दी गई है।

सोमवार को वैशाखी पूणिया को लेकर गिद्धेश्वर मंदिर में पूजा-अर्चना के लिए उमड़ी श्रद्धालुओं की भीड़। । हिन्दुस्तान

epaper