DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   बिहार  ›  जमुई  ›  विधायक के संज्ञान पर अस्पताल में शुरू हुआ नालों का निर्माण
जमुई

विधायक के संज्ञान पर अस्पताल में शुरू हुआ नालों का निर्माण

हिन्दुस्तान टीम,जमुईPublished By: Newswrap
Sat, 19 Jun 2021 05:31 AM
विधायक के संज्ञान पर अस्पताल में शुरू हुआ नालों का निर्माण

झाझा। निज संवाददाता

वजूद में आने के वक्त से ही जल निकासी को नालों को तरसते आ रहे झाझा स्थित रेफरल अस्पताल की उक्त समस्या के समाधान की कवायद शुरू हो गई है। अस्पताल भवन के विधायक ने लिया संज्ञान तो झाझा के रेफरल अस्पताल में शुरू हो गया नालों का निर्माण। नाला निर्माण से अस्पताल की जलनिकासी संबंधी एक वैसी बड़ी समस्या का समाधान संभव हो पाएगा जिससे वह बीते दशकों से दो-चार होने को मजबूर रहा है। जानकारीनुसार विधायक के निर्देश के मद्देनजर अस्पताल कैंपस में तीन ओर से करीब एक हजार फीट लंबाई के नालों का जाल बिछाया जाएगा। पर,फौरी तौर पर पहले चरण के तहत कैंपस स्थित बजरंगबली मंदिर से ले रेफरल अस्पताल के गेट तक 6.9 लाख की लागत से विभिन्न गहराई-चौड़ाई के 375 फीट लंबाई वाले आरसीसी नाले के निर्माण कार्य का श्रीगणेश किया गया है। बता दें कि अस्ताल कैंपस में रेफरल अस्पताल के अलावा पीएचसी का भी भवन अवस्थित है। किंतु,अफसोसजनक यह कि उक्त दोनों ही महत्वपूर्ण सार्वजनिक भवनों में जल निकासी का प्रावधान नहीं किया गया था। नतीजतन,कैंपस में जलजमाव की समस्या अस्पताल प्रशासन से लेकर मरीजों व उनके परिजनों तक के लिए दशकों से एक बड़ी समस्या बनी हुई थी। याद रहे कि स्थानीय रेफरल अस्पताल की सेहत की सुध लेने को बीते दिनों झाझा के विधायक सह पूर्व मंत्री दामोदर रावत पहुंचे थे। उनके दौरे के क्रम में अस्पताल प्रबंघक गजेंद्र कुमार ने अस्पताल कैंपस में नालों का प्रावधान न होने से जल निकासी की बड़ी समस्या के प्रति उनका ध्यान दिलाया था। साथ ही,पर्याप्त रोशनी हेतु तीन हाई मास्ट लाइट आदि मुहैया कराने की भी गुजारिश की थी। विधायक श्री रावत ने मौके पर ही नपं के ईओ आर.एस.तिवारी को तलब कर नालों का निर्माण करा अस्पताल को जलनिकासी की समस्या से निजात दिलाने के अलावा अन्य सभी मांगों की पू्त्तित के प्रति भी सकारात्मक भरोसा दिया। साथ ही अस्पताल को नए बेड तथा ऑक्सीजन सिलेंडर व कॉन्सेंटे्रटर आदि भी मुहैया कराए जाने का भरोसा दिया था। उक्त की बावत पूछे जाने पर श्री रावत ने कहा कि अस्पताल की तमाम समस्या व जरूरतों का समाधान उनकी प्राथमिकता सूचि में है,अन्य जरूरतों को भी शीघ्र ही पूरा करा दिया जाएगा। अलबत्ता,जमुई विद्युत विभाग के ईई को उनके द्वारा निर्देशित किए जाने के बावजूद नए ट्रांसफॉर्मर से रेफरल एवं पीएचसी भवनों को तीन फेज लाइन की संबद्धता अब तक भी नहीं मुहैया कराए जान कीबात अस्पताल के पहरूओं ने बताई है।

संबंधित खबरें