DA Image
हिंदी न्यूज़ › बिहार › जमुई › बीडीओ ने डीईओ को समर्पित किया बाराजोर शिक्षक नियोजन काउंसलिंग का जांच प्रतिवेदन
जमुई

बीडीओ ने डीईओ को समर्पित किया बाराजोर शिक्षक नियोजन काउंसलिंग का जांच प्रतिवेदन

हिन्दुस्तान टीम,जमुईPublished By: Newswrap
Sat, 31 Jul 2021 10:21 PM
बीडीओ ने डीईओ को समर्पित किया बाराजोर शिक्षक नियोजन काउंसलिंग का जांच प्रतिवेदन

झाझा। नगर संवाददाता

झाझा के प्रखंड विकास पदाधिकारी दीपेश कुमार ने जमुई के जिला शिक्षा पदाधिकारी को बाराजोर शिक्षक नियोजन काउंसलिंग का जांच प्रतिवेदन समर्पित किया है। अपने प्रतिवेदन में काउंसलिंग प्रक्रिया में किसी भी प्रकार की अनियमितता बरते जाने की शिकायतों को सिरे से नकार दिया है। बीडीओ श्री कुमार ने लिखा है कि काउंसलिंग का कार्य विभागीय नियमानुसार किया गया है। विदित हो कि उल्लेखित पंचायत में शिक्षक नियोजन काउंसलिंग में अनियमितता बरते जाने को लेकर अभ्यर्थियों के द्वारा शिकायत की गई थी और यह शिकायत जिला मुख्यालय से लेकर प्रदेश मुख्यालय तक भेजी गई थी। इन्हीं शिकायतों के आलोक में जमुई के डीईओ ने झाझा बीडीओ को जांच प्रतिवेदन समर्पित करने को पत्र लिखा था। बीडीओ ने अपने कार्यालय पत्रांक 935 दिनांक 29 जुलाई 2021 के माध्यम से जिला शिक्षा पदाधिकारी के पत्रांक 637 दिनांक 20 जुलाई 2021 का संदर्भ देते हुए लिखा है कि सदस्य सचिव शिक्षक नियोजन इकाई बाराजोर एवं काउंसलिंग हेतु प्राधिकृत शिक्षक से उनके कार्यालय के ज्ञापांक 905 दिनांक 24.07.2021 के द्वारा स्पष्टीकरण की मांग की गई थी। सदस्य सचिव पंचायत शिक्षक नियोजन इकाई बाराजोर एवं प्राधिकृत शिक्षक द्वारा संयुक्त रुप से उनके कार्यालय में दिनांक 28 जुलाई को स्पष्टीकरण का प्रत्युत्तर समर्पित किया गया है। समर्पित प्रत्युत्तर में अंकित है कि पंचायत नियोजन इकाई बाराजोर के काउंसलिंग में किसी भी प्रकार की अनियमितता नहीं बरती गई है और काउंसलिंग कार्य विभागीय नियमानुसार किया गया है। बीडीओ ने आगे लिखा है कि प्राप्त स्पष्टीकरण के अवलोकन से ऐसा प्रतीत होता है कि पंचायत शिक्षक नियोजन इकाई बाराजोर के सदस्य सचिव एवं प्राधिकृत शिक्षक द्वारा किया गया काउंसलिंग विभागीय नियमानुसार हुआ है। काउंसिलिंग की तिथि को कोई भी अभ्यर्थी उनके समक्ष या काउंसलिंग परिसर में लगाए गए हेल्पडेस्क/ शिकायत निवारण केंद्र पर किसी भी प्रकार का कोई शिकायत दर्ज नहीं कराए हैं। आगे लिखा है कि जिला कार्यक्रम पदाधिकारी मध्यान्ह भोजन योजना जमुई प्राधिकृत अनुश्रवण पदाधिकारी के रूप में काउंसलिंग परिसर में उपस्थित थे तथा काउंसलिंग पंजी को प्राधिकृत अनुश्रवण सह जिला कार्यक्रम पदाधिकारी मध्यान्ह भोजन योजना जमुई के द्वारा निर्धारित समय पर हस्ताक्षर एवं कार्यालय से क्लोज किया गया। अधिक जानकारी प्राधिकृत अनुश्रवण पदाधिकारी से ली जा सकती है।

संबंधित खबरें