अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

समय से ऑफिस नहीं आने पर होगी कार्रवाई

कलेक्ट्रेट के संवाद कक्ष में सोमवार को जिला स्तरीय समीक्षात्मक बैठक हुई। बैठक की अध्यक्षता डीएम धर्मेंद्र कुमार ने की। बैठक में डीएम ने कहा कि समय पर कार्यालय नहीं पहुंचने वाले पदाधिकारियों और कर्मियों पर कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि एक सप्ताह के बाद जिले के विभिन्न विभागों में औचक निरीक्षण 10.15 के बाद किया जाएगा।

औचक निरीक्षण के दौरान पकड़े जाने वाले कर्मचारियों और पदाधिकारियों पर अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी। साथ ही उन्होंने यह भी निर्देश दिया कि अगले सप्ताह से जिले के सभी कायर्ज्ञलयों की उपस्थिति पंजी का समय 10.15 बजे तक किसी भी समय अधोहस्ताक्षरी से मांग की जा सकती है। साथ ही जिला विधि शाखा को जिला के विभिन्न विभागों से संबंधित लंबित मुकदमों को अविलंब नियमानुसार निष्पादन करने का निर्देश दिया। आरटीजीएस के माध्यम से बच्चों के खाते में भेजे छात्रवृति की राशि : बैठक में आरटीजीएस के माध्यम से छात्रवृति की राशि नहीं भेजे जाने की शिकायत मिलने पर डीएम धर्मेंद्र कुमार ने एलडीएम को निर्देश देते हुए कहा कि अविलंब संपर्क स्थापित कर आरटीजीएस के माध्यम से बच्चों के खाते में छात्रवृति की राशि दी जाए। यदि बैंक शाखा द्वारा उक्त कार्यों में अभिरूची नहीं ली जाएगी तो उनके विरूद्ध कार्रवाई के लिए उच्च पदाधिकारियों के पास अनुशंसा की जाएगी।

जनवितरण प्रणाली और दुकानों की प्रक्रिया का प्रतिवेदन करें जमा : समीक्षात्मक बैठक में डीएम ने एसडीओ निर्देश देते हुए कहा कि जनवितरण प्रणाली और दुकानों से संबंधित प्रक्रिया का एक सप्ताह के अंदर पूर्ण कराने का प्रतिवेदन जमा करें। साथ ही उन्होंने जिले के नक्सल प्रभावित क्षेत्रों के गांवों को पथ नेटवर्क से जोड़ने के लिए कार्य करने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि निर्माण कार्य के लिए जिला पदाधिकारी को राशि प्राप्ति के पश्चात स्वीकृति प्रदान करने का अधिकार है, इसलिए नक्सल प्रभावित गांव में पथ का निर्माण कार्य की प्रक्रिया शुरू कर दें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Action will not come from office in time