DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जहानाबाद : वेतन नहीं मिलने से परेशान शिक्षक

नियोजित शिक्षकों को कई माह से वेतन नहीं मिलने के कारण इनके समक्ष भुखमरी की स्थिति उत्पन्न हो गई है। सर्वाधिक परेशानी वैसे शिक्षकों को झेलना पड़ रहा है जो दूसरे जिलों से आकर किराए पर मकान लेकर यहां रह रहे हैं। ऐसे शिक्षक किराना दुकानदार से या जरूरत की सभी सामग्रियां उधार खरीदते हैं और वेतन मिलने के उपरांत भुगतान करते हैं। लगभग 4 माह से वेतन नहीं मिल पा रहा है। जिसके कारण शिक्षकों को काफ़ी कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। जहां से सामान खरीदते हैं उसके दुकानदार इन से पैसे की मांग कर रहे हैं। वहीं अन्य जरूरत की सामग्रियां ये नहीं खरीद पा रहे हैं। शादी-विवाह का मौसम कर्ज लेकर किसी तरह बीत गया अब रमजान का महीना है और कुछ ही दिनों बाद ईद का महत्वपूर्ण पर्व आने वाला है। ऐसे में शिक्षकों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। ऐसी महिला शिक्षिका जो अपने छोटे-छोटे बच्चों को साथ रखती हैं, उसे दूध पिलाने के लिए पैसे भी नहीं है। ऐसे लोग दूसरे शिक्षकों से कर्ज लेकर काम चलाते थे लेकिन किसी को वेतन नहीं मिलने से सभी के समक्ष एक साथ परेशानी उठ खड़ी हुई है। यदि शिक्षकों को अतिशीघ्र वेतन का भुगतान नहीं किया गया तो उनके समक्ष और भी विकट परिस्थिति आने वाली है। जिसका असर पठन-पाठन पर भी पड़ने वाला है। ग्रीष्मावकाश के मौके पर शिक्षकों की योजनाएं बाहर घूमने की थी लेकिन इनकी योजनाएं भी वेतन नहीं मिलने के कारण मूर्त रूप नहीं ले पाएगी। बताते चलें कि ग्रीष्म अवकाश की छुट्टी इसी शनिवार से होने वाली है। शिक्षक नेता गिरिजेश कुमार, बृजेश कुमार, अंजनी कुमार सिन्हा ने सरकार से अतिशीघ्र शिक्षकों के वेतन भुगतान की मांग की है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Jehanabad