ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहार जहानाबादलोकसभा चुनाव में इंडिया गठबंधन का बिहार में नहीं खुलेगा खाता: उपेन्द्र कुशवाहा

लोकसभा चुनाव में इंडिया गठबंधन का बिहार में नहीं खुलेगा खाता: उपेन्द्र कुशवाहा

नीतीश कुमार के दिए कोरामिन से ही जिंदा है राजद , राष्ट्रीय लोक मोर्चा की रैली में कार्यकर्ताओं से चुनाव की तैयारी में जुटने का किया...

लोकसभा चुनाव में इंडिया गठबंधन का बिहार में नहीं खुलेगा खाता: उपेन्द्र कुशवाहा
हिन्दुस्तान टीम,जहानाबादFri, 23 Feb 2024 10:30 PM
ऐप पर पढ़ें

नीतीश कुमार के दिए कोरामिन से ही जिंदा है राजद
शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव केके पाठक को सनकी अधिकारी बताया

राष्ट्रीय लोक मोर्चा की रैली में कार्यकर्ताओं से चुनाव की तैयारी में जुटने का किया आह्वान

जहानाबाद, हिन्दुस्तान प्रतिनिधि।

राष्ट्रीय लोक मोर्चा के सुप्रीमो व पूर्व केन्द्रीय मंत्री उपेन्द्र कुशवाहा ने कहा कि अगर 2015 में नीतीश कुमार राजद को साथ नहीं लेते तो आज राजद का कोई नाम लेने वाला नहीं रहता। नीतीश कुमार के दिए कोरामिन से ही राजद जिंदा है। उन्होंने राजद व इंडिया गठबंधन पर जमकर हमला बोला और कहा कि लोकसभा चुनाव में इंडिया गठबंधन का बिहार में खाता नहीं खुलेगा। श्री कुशवाहा शुक्रवार को शहर के गांधी मैदान में गोह के पूर्व विधायक व पार्टी के उपाध्यक्ष रणविजय सिंह की अध्यक्षता में आयोजित जनसभा में बोल रहे थे।

श्री कुशवाहा ने यह भी कहा कि जब नीतीश कुमार महागठबंधन में शामिल हो रहे थे तो उन्होंने इसका विरोध किया था। जब नीतीश कुमार ने उनकी नहीं सुनी तो उन्हें अलग होकर नई पार्टी बनानी पड़ी। लेकिन देर ही सही नीतीश कुमार ने उनकी बातों पर सहमती जताते हुए एनडीए गठबंधन में वापसी की। उन्होंने कहा कि पीएम नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में देश का चहुंमुखी विकास हो रहा है। उनके सामने कोई भी नेता आज देश में नहीं ठहर सकता है। उन्होंने लोगों से अपील करते हुए कहा कि व्यापक देशहित में नरेंद्र मोदी को फिर से प्रधानमंत्री बनाने के लिए सभी लोग एकजुट होकर एनडीए गठबंधन के प्रत्याशी को वोट दें। उनके नेतृत्व में देश विकास की ओर बढ़ रहा है। एनडीए के हाथों में ही देश सुरक्षित है।

उन्होंने कहा कि सीटों को लेकर एनडीए में कोई विवाद नहीं होगा। सीटों का फैसला एनडीए के सभी घटक दलों का साझा निर्णय से तय होगा। लेकिन तैयारी सभी सीटों के लिए करनी होगी ताकि घटक दलों को भी जीताने में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका हो सके। उन्होंने बिहार के शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव पर भी निशाना साधा और कहा कि केके पाठक सनकी अधिकारी हैं। शिक्षकों को गाली देकर व अपमानित कर शिक्षा में सुधार की बात कहीं से जायज नहीं ठहराया जा सकता।

मंच से सुप्रीम कोर्ट व हाईकोर्ट के जजों की नियुक्ति प्रक्रिया पर सवाल उठाते हुए कहा कि बड़े न्यायालयों के जजों की नियुक्ति में पारदर्शिता को बढ़ावा दिया जाना चाहिए। जब एक चपरासी की बहाली में भी कंपीटीशन व मान्य प्रक्रियाओं की जरूरत होती है तो जजों की नियुक्ति में ऐसा क्यों नहीं किया जा रहा है। इस मौके पर पूर्व सांसद मोनाजिर हसन, राम पुकार कुशवाहा, अजय कुशवाहा, पप्पु कुशवाहा, सुभाष चन्द्रवंशी, पैक्स अध्यक्ष जितेन्द्र शर्मा सहित बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे।

फोटो-23 फरवरी जेहाना-15

कैप्शन-शहर स्थित गांधी मैदान में राष्ट्रीय लोक मोर्चा की सभा में उपस्थित पूर्व केन्द्रीय मंत्री उपेन्द्र कुशवाहा व अन्य नेता।

फोटो-23 फरवरी जेहाना-16

कैप्शन-शहर स्थित गांधी मैदान में आयोजित सभा में उपस्थित लोग।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें