DA Image
14 जनवरी, 2021|3:50|IST

अगली स्टोरी

जहानाबाद: साइबर अपराधियों ने अकाउंट से उड़ाये 1.43 लाख रुपये

साइबर क्राइम से जुड़े अपराधियों पर लगाम नही लग रहा है बल्कि जालसाजी कर लोगों के खाते से रुपये की अवैध निकासी कर लिए जाने की घटनाएं लगातार बढ़ते ही जा रही है।

जहानाबाद जिले के निवासी चार लोगों के साथ फिर जालसाजी की घटनाएं हुई और उनके खाते से एक लाख तैंतालीस हजार रुपये की निकासी कर ली गई। खाताधारकों के मोबाइल फोन पर जब मैसेज आया तो उनका माथा ठनका और अपने साथ हुई आर्थिक जालसाजी के संबंध में नगर थाने में प्राथमिकी दर्ज करायी। बुधवार को थाने में उक्त घटनाओं से संबंधित चार एफआईआर दर्ज करायी गयी है। इसमें एक व्यक्ति तो ऐसे हैं जो दुबई में रहते हैं और जहानाबाद स्थित बैंक के उनके खाते से 25 हजार हजार रुपये की निकासी कर ली गई।

इस संबंध में मो. इकबाल अय्यर की पत्नी तहरीम प्रवीण के बयान पर थाने में प्राथमिकी दर्ज हुई है। उक्त महिला अरवल के कुर्था थाना के डकरा गांव की मूल निवासी है जो जहानाबाद के इरकी मोहल्ला में फिलहाल रह रही हैं। उन्होंने पुलिस को बताया है कि उनके पति दुबई में रहते हैं और उनके बैंक खाते का पासबुक और एटीएम उनके पास है। आठ जून को उनके खाते से 25 हजार रुपये की अवैध निकासी कर ली गई।

साइबर अपराधियों के दूसरे शिकार हुए काको थाना के चातर गांव के निवासी अवध बिहारी नारायण जिनके एसबीआई के खाते से आठ जून को ही छह बार मेें 60 हजार रुपये की निकासी जालसाजों ने कर ली। पुलिस को बताया गया है कि गया के चांद चौरा इलाके के एटीएम से रुपये की निकासी हुई है। तीसरी घटना शहर के मखदुमाबाद मोहल्ला के निवासी मो. शमीर हुसैन के साथ हुई। बंधन बैंक के इनके खाते से 33 हजार रुपये की निकासी हुई है। मोबाइल पर निकासी की सूचना आने पर वे परेशान हो गए।

एक अन्य घटना तिनेरी गांव के निवासी पंजाब नेशनल बैंक के खाताधारक सुधांशु कुमार के साथ हुई। इन्होने शहर के आंबेडकर चौक के पास एसबीआई के एटीएम से सात जून को अंतिम निकासी की थी और दूसरे दिन आठ जून को तीन बार में 25 हजार रुपये की निकासी हो जाने का मैसेज उसके मोबाइल पर आया। पुलिस उक्त प्राथमिकियां दर्ज कर मामले की अनुसंधान में जूट गयी है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Cybercriminals flew Rs 1 lakh 43 thousand rupee from account in Jehanabad