DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जहानाबाद : सहेली की पहेली किताबें पड़ी है कूड़ेदान में

इंटर बालिका विद्यालय की छात्राएं वंचित रह गई कई जानकारियों से

स्वास्थ्य संबंधित जानकारी के लिए छात्राओं को दी जानी थी किताबें

किशोरवय प्राप्त कर चुकी छात्राओं को स्वास्थ्य संबंधी जानकारी देने के लिए राज्य सरकार द्वारा उपलब्ध कराई गई ‘सहेली की पहेली किताब से शहर स्थित बालिका इंटर विद्यालय की छात्राएं वंचित हैं। स्वास्थ्य संबंधित जानकारी से भरपूर इन किताबों का छात्राओं के बीच वितरण भी नहीं हो पाया है। सारी किताबें स्कूल की छत की सीढ़ी के नीचे रख दिया गया। चारों ओर कूड़ा-कचरा के बीच रखी किताबें अनुपययुक्त पड़ी है। जिन किताबों को लाईब्रेरी में होना चाहिए था, वह कचरे के ढ़ेर में पड़ी हुई है। मालूम हो कि बिहार पाठ्य पुस्तक लिमिटेड द्वारा इन किताबों की छपाई कराई गई थी। किताबों को उच्च विद्यालयों और प्लस टू स्कूलों में बच्चियों के अध्ययन के लिए भेजा गया था। लेकिन, बच्चियों को पढ़ने के लिए किताबें उपलब्ध नहीं कराई गई। इस बारे में प्राचार्य राजदेव राम से जब पूछा गया तो वे आग बबूला हो उठे। इधर, जिला शिक्षा पदाधिकारी अमेरिका प्रसाद ने बताया कि छात्राओं के बीच पाठ्य पुस्तक नहीं वितरित किया जाना खेद का विषय है। उन्होंने कहा कि मामले की जांच की जाएगी और दोषी पाए जाने पर प्राचार्य के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Arwal