ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहार हाजीपुरनारद शॉप से मुक्ति के लिए भगवान को लेना पड़ा अवतार : स्वामी गुप्तेश्वर

नारद शॉप से मुक्ति के लिए भगवान को लेना पड़ा अवतार : स्वामी गुप्तेश्वर

महाराज सोनपुर में हरिहरात्मक महायज्ञ में यज्ञ मंडप की परिक्रमा के लिए उमड़ रही है श्रद्धालु की भीड़ लोक गायक राकेश तिवारी और छोटू बिहारी को सुनने के लिए पंडल में उमड़ी लोगों की भीड़ सोनपुर में आगामी 05...

नारद शॉप से मुक्ति के लिए भगवान को लेना पड़ा अवतार : स्वामी गुप्तेश्वर
हिन्दुस्तान टीम,हाजीपुरThu, 29 Feb 2024 11:45 PM
ऐप पर पढ़ें

सोनपुर। संवाद सूत्र
सोनपुर में आगामी 05 मार्च तक आयोजित होने वाले 09 दिवसीय 11 कुंडीय हरिहरात्मक महायज्ञ के पांचवें दिन गुरूवार को यज्ञ के प्रधान अर्चक प्रकाश चन्द्र त्रिपाठी के नेतृत्व में पूरे दिन यज्ञस्थल पर हवन और पूजा पाठ चलता रहा। वैदिक मंत्रोच्चारों, पवित्र श्लोकों एवं मंगल उद्घोषों से पूरा क्षेत्र गूंज रहा है। वहीं यज्ञ मंडप की परिक्रमा के लिए सैकड़ों महिला एवं पुरुष श्रद्धालुओं की देर शाम तक भीड़ उमड़ रही है।

हरिहरनाथ मंदिर न्यास समिति के अध्यक्ष और जगदगुरू रामानुजाचार्य गोविन्दाचार्य स्वामी गुप्तेश्वर पांडेय जी महाराज ने अपने प्रवचन में भगवान श्रीराम की लीलाओं पर आधारित रामायण के कई प्रसंगों की संगीतमय प्रस्तुति कर श्रोताओं को मंत्रमुग्ध कर दिया। उन्होंने अपने प्रवचन में धरती पर भगवान राम के अवतरण और नारद मोह की कथा पर प्रकाश डाला। पार्वती के पूछने पर शिव जी ने भगवान के अवतार लेने के कई कारणों को बताते हुए एक कारण नारद द्वारा भगवान को शाप देना बताया। उन्होंने नारद मोह की कथा सुनाते हुए कहा कि कामदेव को जीतने के बाद नारद जी को अभिमान हो गया था। भगवान ने माया की नगरी बनाकर शीलनिधि राजा की पुत्री विश्व मोहिनी से विवाह करने की अभिलाषा हुई तो उनकी दुर्गति हो गई। इसी से नाराज होकर नारद ने भगवान को शाप दिया जिसके कारण भगवान को अवतार लेकर पत्नी विरह की लीला करनी पड़ी। दूसरी ओर रावण के अत्याचार से मुक्ति के लिए भी भगवान को अवतार लेना पड़ा। दूसरी ओर स्वामी चिंताहरण जी महाराज ने भी अपने प्रवचन में श्रीमद् भागवत कथा के कई प्रसंगों पर विस्तार से प्रकाश डाला। वृंदावन से आए कलाकारों ने रास लीला की आकर्षक प्रस्तुति कर श्रद्धालुओं का मन मोह रहे हैं। उधर, सांस्कृतिक कार्यक्रम के दौरान लोक गायक राकेश तिवारी औ छोटू बिहारी ने भी भक्ति-भावना पर आधारित एक से बढ़कर एक भजन और लोकगीत की प्रस्तुति कर श्रोताओं का मन मोह लिया। इस अवसर पर लोकसेवा आश्रम के संत विष्णुदास उदासीन उर्फ मौनी बाबा, हरिहरनाथ मंदिर के मुख्य अर्चक आचार्य सुशीलचन्द्र शास्त्री, आचार्य पवन शास्त्री, न्यास समिति के सचिव विजय कुमार सिंह लल्ला, कोषाध्यक्ष निर्भय कुमार, बमबम पांडेय,मानवेन्द्र सिंह, शर्मानंद सिंह समेत अनेक गण- मान्य लोग मौजूद थे।

सोनपुर - 01- सोनपुर में चल रह हरिहरात्मक महायज्ञ के दौरान उपस्थित श्रद्धालु प्रवचन सुनते हुए।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें