DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राघोपुर नरसंहार के सजायाफ्ता की दया याचिका खारिज

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने वैशाली जिले के राघोपुर नरसंहार में फांसी पाए अभियुक्त जगत राय की दया याचिका खारिज कर दी। राष्ट्रपति बनने के बाद उन्होंने यह पहली दया याचिका खारिज की है। हत्या के मामले में उसे जिला अदालत से मिली फांसी की सजा को हाईकोर्ट और बाद में सुप्रीम कोर्ट ने बहाल रखा थी। सुप्रीम कोर्ट ने पांच साल पहले ही जगत राय की अपील खारिज कर दी थी। इसके बाद उसने राष्ट्रपति भवन का दरवाजा खटखटाया था। लेकिन, वहां से भी उसे राहत नहीं मिली। राय की अर्जी पर राष्ट्रपति सचिवालय ने करीब दस महीने तक विचार किया। मालूम हो कि जगत राय पर विजेंद्र महतो ने भैंस चोरी करने का आरोप लगाया था। इसके बाद वह अपने सहयोगियों के साथ 31 दिसंबर 2005 में विजेंद्र महतो के घर में बाहर से ताला लगाकर आग लगा दी थी, जिसमें उसकी पत्नी और पांच बच्चे जल गए थे। विजेन्द्र की पत्नी ने बच्चों को बचाने की पूरी कोशिश की थी लेकिन,बाहर से घर बंद होने के कारण वह किसी को नहीं बचा सकी थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:First mercy petitions rejected by President ramnath kovind