Friday, January 21, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहार हाजीपुर महुआ में ड्यूटी से गायब मिले 10 चिकित्सकों से स्पष्टीकरण

महुआ में ड्यूटी से गायब मिले 10 चिकित्सकों से स्पष्टीकरण

हिन्दुस्तान टीम,हाजीपुरNewswrap
Fri, 03 Dec 2021 03:02 AM

महुआ में ड्यूटी से गायब मिले 10 चिकित्सकों से स्पष्टीकरण

हाजीपुर। एक प्रतिनिधि

कोविड टीकाकरण एवं ओमिक्रॉन वैरिएंट के संभावित खतरे को लेकर तैयारियों की जायजा लेने सिविल सर्जन महुआ पहुंची। गुरुवार को सिविल सर्जन डॉ. उषा किरण वर्मा ने बताया कि बुधवार को सर्वप्रथम महुआ प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र एवं महुआ अनुमंडल अस्पताल का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान अनुपस्थित पाए गए 10 चिकित्सकों से स्पष्टीकण मांगा गया है। सीएस डॉ. वर्मा ने निरीक्षण के दौरान चिकित्सकों की उपस्थिति पंजी को देखा। उपस्थिति पंजी में डॉ. राजेश कुमार एवं डॉ. अरुण कुमार अनुस्थित पाए गए। सिविल सर्जन ने बताया कि महुआ अनुमंडल अस्पताल के उपस्थिति पंजी की समीक्षा के दौरान विशेषज्ञ चिकित्सक डॉ. श्रेयसी, डॉ. कृतिका, डॉ. विनोद कुमार, डॉ. सवेरा, डॉ. राकेश कुमार, डॉ. कुशाय, डॉ. अभिषेक मिश्रा एवं डॉ. विनीता सिंह भी उनुपस्थित थीं।

इस संबंध में सीएस डॉ उषा किरण वर्मा ने बताया कि महुआ पीएचसी का निरीक्षण के दौरान कार्य संस्कृति में कमी मिली। पीएचसी के कार्यालय में टेबल कुर्सी पर गंदगी थी, जिसे सफाई कर्मी को बुलाकर साफ करवाया। पीएचसी में निरीक्षण के दौरान डॉ. राय दुर्गेश नंदन प्रसाद मरीजों का इलाज कर रहे थे। कुछ देर बाद प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी और स्वास्थ्य प्रबंधक उपस्थित हुए। स्वास्थ्य प्रबंधक ने बताया कि महुआ मुख्य बाजार में दो टीम को टीकाकरण के लिए लगाया गया है, जिसमें अब तक 80 लाभुकों का टीकाकरण हुआ है। प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी ने सीएस को बताया कि प्रखंड में कुल 36 टीम कार्यरत है। कुछ लक्षित घरों की संख्या 53 हजार 631 है, जिसमें 53622 का भ्रमण के दौरान 2310 व्यक्तियों का टीकाकरण हुआ है।

विदेश से लौटे छह में दो का लिया सैंपल

समीक्षा के दौरान सीएस को बताया गया कि महुआ प्रखंड में विदेश से आने वाले की सूची में छह लोग शामिल हैं, जिसमें दो महुआ के सिंह राय एवं मुकुंदपुर के हैं, जिनका आरटी-पीसीआर जांच के लिए सैंपल लिया गया है। शेष चार में से तीन गोरौल प्रखंड एवं एक पातेपुर प्रखंड के हैं, जिनके बारे में गोरौल एवं पातेपुर प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी को सूचित किया गया है।

इन्सेट...

महुआ अनुमंडल में सिजेरियन डिलेवरी बंद, सीएस ने जताई नाराजगी

सिविल सर्जन डॉ. उषा किरण वर्मा ने महुआ पीएचसी चिकित्सीय सुविधाओं के समीक्षा के बाद अनुमंडल अस्पताल में समीक्षा की। अनुमंडल अस्पताल में वाह्यकक्ष में बुधवार को 114 मरीजों को देखा गया, जिसमें 11 प्रसव हुआ, लेकिन सिजेरियन डिलेवरी यहां नहीं हो रही है। पूछे जाने पर उपाधीक्षक ने बताया कि गत माह एक सिजेरियन डिलेवरी हुई है। यहां पर विशेषज्ञ चिकित्सक सहित सभी प्रकार के संसाधान उपलब्ध हैं, फिर भी सिजेरियन डिलेवरी नहीं होना खेद का विषय है। इसको लेकर सीएस डॉ. वर्मा ने उपाधीक्षक को सख्त निर्देश दिया कि सिजेरियन डिलेवरी सुनिश्चित करें अन्यथा इसे गंभीरता से लिया जाएगा। सीएस ने बताया कि समीक्षा के दौरान बताया गया कि दवा भंडार में वाह्यकक्ष के लिए 87 प्रकार की दवा एवं इमरजेंसी के लिए कुल 72 प्रकार की दवाएं उपलब्ध हैं। समीक्षा के दौरान सीएस को बताया कि महुआ पुर्नवास केन्द्र (एनआरसी) में चार मरीज भर्ती हैं, जिनकी चिकित्सा एवं पुर्नवास की जा रही है।

ओमिक्रॉन की रोकथाम की समीक्षा

महुआ अनुमंडल अस्पताल में बुधवार को कोविड-19 के नये वैरिएंट ओमिक्रॉन की तैयारियों की अलग से समीक्षा की गई। समीक्षा के दौरान उपाधीक्षक ने सीएस को बताया कि अनुमंडल अस्पताल में पूर्व में कोविड मरीजों की इलाज के लिए अलग वार्ड स्थापित किया गया था। वर्तमान में कोविड केयर इकाई में 75 बेड की व्यवस्था है जिसमें 14 बेड तैयार रखा गया है। ऑक्सीजन सिलेंडर बड़ा 84 एवं छोटा ऑक्सीजन सिलेंडर 25 उपलब्ध है। इसके अलावा 28 ऑक्सीजन कंसेटेटर उपलब्ध है। कोविड में कार्य के लिए चिकित्सक, ए-ग्रेड नर्स सहित अन्य कर्मी उपलब्ध है। समीक्षा के दौरान सीएस को बताया गया कि महुआ अनुमंडल अस्पताल में ऑक्सीजन प्लांट तैयार है, लेकिन चालू नहीं किया गया है। मुख्य प्लांट से पाइप लाइन को अब तक जोड़ा नहीं गया है। इसके लिए संबंधित राज्य स्वास्थ्य समिति के बीएमएससीआईएल के अभियंता को सूचित किया गया है। अभियंता ने अगले दो-तीन दिनों में आने की सूचना दी है।

अनुमंडल अस्पताल का अल्ट्रासाउंड भी बंद

समीक्षा के दौरान बताया गया कि महुआ अनुमंडल अस्पताल में अल्ट्रासाउंड मशीन स्थापित है, लेकिन चालू नहीं है। जबकि अनुमंडल अस्पताल में कार्यरत स्त्री रोग विशेषज्ञ को इसका प्रशिक्षण दिया गया था, लेकिन वे सभी कार्य नहीं करती हैं। इस पर सिविल सर्जन ने अस्पताल के उपाधीक्षक को निर्देश दिया कि संबंधित चिकित्सक को लिखित रूप में पुन:निर्देशित कर अल्ट्रासाउंड कार्य शुरू कराएं, आदेश की अवज्ञा के स्थिति में सीएस को तुरंत सूचित करने का आदेश दिया गया है। महुआ अनुमंडल अस्पताल में बाउंड्री नहीं है, जिसके कारण अस्पताल सुरक्षित नहीं है। उपाधीक्षक को सिविल सर्जन ने पुन: अपने स्तर से अंचलाधिकारी से मिलकर मापी कराने की व्यवस्था करने को कहा।

हाजीपुर - 03 - महुआ अनुमंडल अस्पताल का निरीक्षण और समीक्षा करतीं सिविल सर्जन डॉ. उषा किरण वर्मा।

epaper
सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें