DA Image
Friday, December 3, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहार हाजीपुर‘यास की रफ्तार के बीच 15 घंटे अंधेरे में रहे जिलेवासी

‘यास की रफ्तार के बीच 15 घंटे अंधेरे में रहे जिलेवासी

हिन्दुस्तान टीम,हाजीपुरNewswrap
Fri, 28 May 2021 11:00 PM
‘यास की रफ्तार के बीच 15 घंटे अंधेरे में रहे जिलेवासी

‘यास तूफान ने 24 घंटे में वैशाली जिले के भीतर जमकर तबाही मचायी है। यास तूफान की करीब 50 किमी की रफ्तार से चल रही तूफानी हवाओं संग मूसलाधार बारिश के बीच शहर से लेकर गांव लोगों ने करीब 15 घंटे का समय अंधेरे में काटा। शहर से लेकर गांव तक लोग रात भर अंधेरे में रहे, उसके बाद सुबह बिजली नहीं रहने से नित्यकर्म और फिर दिनभर पेयजल के लिए भी लोगों को इधर-उधर पानी के लिए भटकना पड़ा। गुरुवार की शाम करीब छह बजे आंधी-तूफान के साथ मूसलाधार बारिश के शुरू होते ही कोनहारा-33 केवी फीडर एवं पासवान चौक-33 केवी फीडर ब्रेक डाउन हो गया। फीडर के ब्रेक डाउन होते ही पूरे शहर में ब्लैक-आउट हो गया। शहर के बड़े हिस्से में तो 24 घंटे बाद बिजली आई।

पूर्वाह्न 11:30 बजे तक पासवान चौक स्थित पावर सब स्टेशन को मिली लेकिन शहर के इलेवन केवी फीडरों में फॉल्ट के बिजली सप्लाई बहाल न हो सकी थी। इसके बाद बिजली विभाग के कर्मियों और अधिकारियों ने काफी मशक्कत के बाद किसी इलाके में 16 घंटे बाद तो किसी इलाके में 24 घंटे बाद बिजली सप्लाई को बहाल किया, हालांकि इसके बाद भी रुक-रुककर पॉवर ट्रिपिंग की समस्या के कारण बिजली गुल होती रही। गांधी आश्रम के कृष्णनंदन पांडेय ने बताया कि अपराह्न 12:30 बजे बिजली लौटी, लेकिन फिर आधे घंटे में बिजली चली गई। कोनहारा-33 केवी फीडर में 20 घंटे से ब्रेक-डाउन है, मलमल्ला चंवर में तीन पोल जमीन पर गिर गए इससे पूरे शहर में बिजली गुल है। शहर में बिजली गुल रहने से सबसे ज्यादा असर पानी सप्लाई पर पड़ा है। बिजली के अभाव में 20-22 घंटे से शहर में पानी की सप्लाई ठप है। दिग्घी इलेवन केवी फीडर में बिजली गुल रहने से पुलिस लाइन, जेल, डॉयट परिसर सहित कई व्यवसायिक प्रतिष्ठानों में बिजली गुल रही।

शहर में शाम 07 बजे तक बिजली सप्लाई बहाल

कार्यपालक विद्युत अभियंता ई. अरविंद कुमार ने बताया कि 03 पोल खड़ा करने का काम लगभग पूरा हो गया। इंसुलेटर बदला जा रहा है, जिसके बाद शहर में शाम 07 बजे तक बिजली सप्लाई बहाल कर दी जाएगी। इसी तरह महुआ विद्युत प्रमंडल के महुआ, पातेपुर, गोरौल, लालगंज, वैशाली में गुरुवार से बिजली सप्लाई अस्त-व्यस्त है। जंदाहा पातेपुर 33 केवी फीडर के ब्रेक डाउन से डभैच्छ, पातेपुर पॉवर सब स्टेशन से जुड़े ग्रामीण इलाकों में बिजली गुल है। हालांकि बिजली सप्लाई को बहाल करने के लिए युद्ध स्तर विद्युत अभियंता और बिजली कामगार लगे हुए थे।

डीसीएचसी में बिजली गुल, जेनरेटर मिली बिजली

बिजली सप्लाई चरमराने के बाद हाजीपुर के लोदीपुर स्थित कोविड हेल्थ केयर सेन्टर (डीसीएचसी), डॉ. अंबेडकर आवासीय विद्यालय स्थित कोविड केयर सेन्टर में भी बिजली गुल रही। बिजली की वैकल्पिक व्यवस्था के रूप में जेनरेटर लगा था, जिससे बिजली सप्लाई को बहाल रखा। इसी तरह महुआ डीसीएचसी में भी आंधी-बारिश में बिजली गुल होने पर जेनरेटर से बिजली की वैकल्पिक व्यवस्था की गई।

शहर में जलापूर्ति बिजली पर निर्भर

हाजीपुर नगर परिषद में सभी जलापूर्ति केन्द्र बिजली पर निर्भर हैं। बिजली रहती है तो जलापूर्ति केन्द्र से पानी की सप्लाई सुचारु रूप से होती है। बिजली गुल रहने से पानी की सप्लाई बाधित हो जाती है। इस संबंध में कई बार जलापूर्ति केन्द्र में बिजली की वैकल्पिक व्यवस्था के लिए जेनरेटर लगाने का प्रस्ताव जिला प्रशासन ने लिया था। अब कुछ महीनों से शहर के सभी जलापूर्ति केन्द्र नगर परिषद के जिम्मे हैं। हाजीपुर शहरी क्षेत्र में हमेशा बिजली गुल होने की समस्या से जलापूर्ति प्रभावित हो जाता है।

पिछले 36 घंटे से इलाके में बिजली नदारद

पटेढ़ी बेलसर। संवादसूत्र

प्रखंड में ‘यास तूफान का काफी असर दिखाई दे रहा है। पिछले 36 घंटे से आंधी के साथ लगातार हो रही बारिश से जनजीवन पूरी तरह अस्त-व्यस्त हो गया है। पूरे इलाके में तेज रफ्तार से चल रही हवा के कारण बिजली आपूर्ति पर भी काफी असर पड़ा है। लोग अंधेरे में रहने को मजबूर हैं। लोगों के मोबाइल का बैट्री और इन्वर्टर भी बैठने लगे हैं। कई वार्डों में बिजली नहीं रहने से नलजल के पानी की सप्लाई पूरी तरह बाधित है। कनीय अभियंता ने बताया कि ऊपर से ही ब्रेकडाउन चल रहा है। वहीं कई जगहों पर तेज आंधी के कारण पेड़ भी उखड़ गए है। साईन पंचायत के वार्ड नंबर एक में एक पेड़ घर पर ही गिर पड़ा। जिससे घर पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया है। पीड़ित उपेंद्र ठाकुर एवं सुरेश ठाकुर ने बताया कि घर क्षतिग्रस्त हो जाने से इस बारिश में काफी कठिनाई हो गई है। वहीं साईन निवासी महेश साह का भी दलान गिर गया।

फोटो-हाजीपुर-06- मलमल्ला चंवर में पोल गाड़ने के लिए कार्यपालक विद्युत अभियंता ई. अरविंद कुमार के साथ बिजली कामगार

हाजीपुर- 07- स्थानीय मलमल्ला चंवर में आंधी-बारिश से कोनहारा-33 केवी फीडर का तीन पोल झुका व गिरा।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें