DA Image
Monday, December 6, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहार हाजीपुर बाल विज्ञान कांग्रेस बच्चों में जगाता है विज्ञान की भावना : प्रो. नवल

बाल विज्ञान कांग्रेस बच्चों में जगाता है विज्ञान की भावना : प्रो. नवल

हिन्दुस्तान टीम,हाजीपुरNewswrap
Mon, 01 Nov 2021 03:01 AM
 बाल विज्ञान कांग्रेस बच्चों में जगाता है विज्ञान की भावना : प्रो. नवल

हाजीपुर/महुआ। हि.टी.

बाल विज्ञान कांग्रेस सिर्फ एक मंच ही नहीं, बल्कि यह बच्चों में बदलाव लाने की एक प्रक्रिया है। यह उनमें विज्ञान की भावना तथा अपने दैनिक जीवन में विज्ञान की विधियों को लागू करने की क्षमता विकसित करता है। ये बातें साइंस फॉर सोसाइटी के ज़िला अध्यक्ष डॉ नवल किशोर शर्मा ने रविवार को महुआ के स्कूल में अयोजित बाल विज्ञान कांग्रेस की 29वीं ज़िला स्तरीय प्रतियोगिता में विचार व्यक्त करते हुए कही। मुख्य अतिथि किशलय किशोर ने ने कहा कि बाल विज्ञान कांग्रेस बाल वैज्ञानिकों में व्यवहारिक ज्ञान पर आधारित अन्वेषण, नवाचार और विज्ञान की विधियों के द्वारा खुद प्रयोग करके सीखने को प्रोत्साहित करता है। एसएनएस कॉलेज हाजीपुर के जन्तु विज्ञान विभाग के अध्यक्ष डॉ सत्येंद्र कुमार ने भी विचार व्यक्त किए।

बाल विज्ञान कांग्रेस का महुआ के संत जोसेफ स्कूल में ऑनलाइन और ऑफलाइन आयोजन किया गया। जिसमें जिले के गर्ल्स हाईस्कूल हाजीपुर, भगवान शंकर लालगंज, घटारो हाईस्कूल, कर्णपूरा हाई स्कूल, संत जोसफ स्कूल महुआ सहित दर्जनों स्कूल के छात्र एवं छात्राओ ने भाग लिया। निर्णायक मंडल के सदस्य प्रोफेसर नवल किशोर शर्मा एवं डॉक्टर सत्येंद्र कुमार ने पांच छात्रों का चयन किया। चयनित छात्र का प्रोजेक्ट फाइल के अवलोकन के बाद चयनित छात्र का नाम राज्य बाल विज्ञान कांग्रेस को भेजा जाएगा।

विज्ञान के प्रति रुचि रखने की अपील की

इस वैश्विक महामारी के दौरान सन धारणीय जीवन संधार नियम जीवन हेतु सामुदायिक जीवन के मापदंडों का पालन करने की आवश्यकता पर बल देते विद्यालय के निदेशक सत्येंद्र कुमार सिंह ने सभी अतिथियों का आभार प्रकट किया। अनिश्चित जलवायु पैटर्न, अति गंभीर मौसमी घटनाएं, भूकंप का खतरा, आग और बाढ़ की पृष्ठभूमि तथा कोरोनावायरस के दौरान स्वास्थ्य एवं जोखिम प्रबंधन ज्यादा महत्वपूर्ण हो जाता है। ऐसे में विज्ञान शिक्षकों एवं बाल विज्ञानियों की महती भूमिका की प्रशंसा करते हुए जिला समन्वयक सीमा सिंह ने सभी प्रतिभागियों को विज्ञान के प्रति रुचि रखने की अपील की । 2020 एवं 2021 का मुख्य विषय सतत जीवन हेतु विज्ञान को सर्वाधिक उपयुक्त बताया। कार्यक्रम में सरकारी स्कूल के 27 विद्यालयों एवं निजी विद्यालय के 19 बाल विज्ञानियों ने भागीदारी दर्ज करवाई।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें