DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस ने घटनास्थल का लिया जायजा

हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश ए. पी शाही शनिवार को अपराह्न लगभग तीन बजे यहां कोर्ट परिसर पहुंचे और गत 23 मई को पुराने सिविल कोर्ट परिसर की हाजत के पास हुए गोलीकांड के बारे में जानकारी ली और घटनास्थल का निरीक्षण किया। उन्होंने सदर हाजत, सीजेएम कार्यालय परिसर और नए व्यवहार न्यायालय के कारगिल परिसर स्थित हाजत का भी जायजा लिया।

मुख्य न्यायाधीश ने कोर्ट परिसर के सुरक्षा प्रबंधों की जानकारी ली और खुद भ्रमण कर तथ्यों और स्थितियों का अवलोकन किया। उनके साथ जिला जज प्रेमरंजन मिश्रा, डीएम राजीव रौशन, एसपी मानवजीत सिंह ढ़िल्लो, एडीजे विजयकृष्ण सिंह, प्रवीण कुमार सिंह श्रीनेत, सुधाकर पांडेय,गजनफर हैदर, सीजेएम प्रेमचंद वर्मा,कोर्ट मैनेजर अभिषेक गौरव , नाजिर सुनील कुमार सिंह , जिला विधिज्ञ संघ के सचिव रणजीत कुमार सिंह आदि थे।

मालूम हो कि गत 23 मई को सदर हाजत के पास अपराधियों ने दो सिपाहियों और एक कैदी को गोली मार दी थी जिससे वे गंभीर रूप से घायल हो गए । धर्मेन्द्र राय नामक अधिवक्ता भी इस घटना में बाल-बाल बचे थे और अपराधियों द्वारा चलायी गयी एक गोली उनके गाउन में फंस गयी थी। अपराधी फायरिंग करने के बाद पिस्तौल लहराते और अधिवक्ताओं को धमकाते हुए कचहरी रोड स्थित गेट से भाग निकले थे। इस घटना के बाद कोर्ट परिसर में अधिवक्ताओं और न्यायार्थियों की सुरक्षा का सवाल खड़ा हो गया है।

मुख्य न्यायाधीश ने घटनास्थल आदि का निरीक्षण करने के बाद जिला जज के कक्ष में अधिकारियों के साथ बैठक की और इस घटना को गंभीर बताते हुए जिला जज और डीएम से सुरक्षा प्रबंधों और अन्य स्ट्रक्चरल रिफार्मेशन के संबंध में हाईकोर्ट को रिपोर्ट भेजने का निर्देश दिया। बैठक में जिला विधिज्ञ संघ के जिलाध्यक्ष प्रफुल्ल भूषण प्रसाद मोहन को भी बुलाया गया और उनसे कोर्ट परिसर की स्थिति को बेहतर बनाने में सहयोग मांगा गया।

बार काउंसिल के सदस्य ने भी ली घटना की जानकारी

यहां पुराने सिविल कोर्ट परिसर की हाजत के पास अपराधियों की फायरिंग की घटना के बाद अधिवक्ताओं की सुरक्षा के सवाल को लेकर शनिवार को स्टेट बार काउंसिल के वरीय सदस्य विन्ध्यकेशरी कुमार जिला विधिज्ञ संघ पहुंचे । यहां उन्होंने अधिवक्ताओं से बातचीत की और संघ के सचिव रणजीत कुमार सिंह के साथ घटनास्थल का निरीक्षण लिया।

निरीक्षण के दौरान संघ के सहायक सचिव राजकुमार दिवाकर, मनोज कुमार सिंहा, कार्यकारणी सदस्य चंद्रमणि कुमार, पवन कुमार के अलावा हरेश कुमार सिंह, प्रणव कुमार, विक्रांत कुमार बमबम, अखिलेश सिंह और पटना उच्च न्यायालय के अधिवक्ता सत्येन्द्र कुमार सिंह भी उपस्थित थे। उन्हें संघ की ओर से बताया गया कि पुराने सिविल कोर्ट परिसर और जिला विधिज्ञ संघ परिसर के चार गेटों में से महज एक पर ही पुलिस की ड्यूटी लगी है जबकि तीन गेटों पर सुरक्षा का कोई प्रबंध नहीं है।

बार काउंसिल सदस्य श्री कुमार ने पुराने सिविल कोर्ट परिसर की हाजत को नए सिविल कोर्ट के कारगिल परिसर में शिफ्ट करने की जरूरत जतायी और जिला प्रशासन से अधिवक्ताओं और न्यायार्थियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने की मांग की और कहा कि वे इस संबंध में राज्य के मुख्य सचिव और डीजीपी से मिलकर बात करेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Chief Justice of the High Court Check the security of hajipur court Campus with District Judge DM and SP