अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

‘सभ्य समाज का यही है नारा, दहेज से अब करो किनारा

‘सभ्य समाज का यही है नारा, दहेज से अब करो किनारा

‘सभ्य समाज का यही है नारा, दहेज से अब करो किनारा ‘बिहार की महिला करे पुकार, दहेज मुक्त हो मेरा बिहार। ऐसे नारे दीवारों पर लिखकर लोगों को बाल विवाह व दहेज उन्मूलन को लेकर जागरूक किया जा रहा है। साथ ही 21 जनवरी को बाल विवाह व दहेज उन्मूलन के समर्थन में बनायी जाने वाली मानव श्रृंखला में बड़ी भागीदारी को रोज जागरूकता कार्यक्रम किए जा रहे हैं। साक्षरता डीपीओ धनंजय कुमार पासवान ने बताया कि 8 हजार 6 सौ से अधिक नारे जिले के सार्वजनिक स्थलों पर लिखे जा चुके हैं। वहीं, जागरूकता के कार्यक्रमों का आयोजन भी रोजाना हो रहा है। इसी क्रम में मानव श्रृंखला में बड़ी भागीदारी की जागरूकता को 14 जनवरी को मिंज स्टेडियम में जिला प्रशासन व पत्रकारों के बीच क्रिकेट मैच होगा। इसके बाद यही पतंगबाजी प्रतियोगिता भी होगी। इसी दिन सभी प्रखंडों में भी पदाधिकारी पतंगबाजी प्रतियोगिता आयोजित करेंगे। 15 जनवरी को जिलास्तर पर राजनीतिक दलों के अध्यक्षों के साथ बैठक की जाएगी। वहीं प्रेस कांफ्रेंस का भी आयोजन होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:this is the slogan of the civilized society