DA Image
17 जनवरी, 2020|9:38|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गंडक नदी के जलस्तर में लगातार हो रही वृद्धि से दियारे में दहशत

default image

गंडक नदी की धारा शुक्रवार को और उग्र हो गई। वाल्मीकिनगर बराज से शुक्रवार को छोड़ा गया 76 हजार 200 क्यूसेक पानी शनिवार की सुबह जिले के जल अधिग्रहण क्षेत्रों में पहुंचते ही डेढ़ से दो फुट तक जलस्तर में वृद्धि हुई है। हालांकि बाढ़ नियंत्रण विभाग के अधिकारियों के अनुसार गंडक का जलस्तर फिलहाल खतरे के निशान से नीचे है। शनिवार की दोपहर तक गंडक नदी के डाउनस्ट्रीम में 81 हजार 400 क्यूसेक पानी वाल्मीकीनगर डैम्प से डिस्चार्ज किया गया है। नेपाल के तराई क्षेत्रों में शुक्रवार को अधिक बारिश होने से डिस्चार्ज लेवल में थोड़ी वृद्धि हुई है। शनिवार को भी गंडक नदी के जलस्तर में वृद्धि जारी रही। गंडक के जलस्तर में तेजी से वृद्धि होने के कारण निचले हिस्से में बसे गांवों के लोग एक बार फिर बाढ़ की आशंका से डरे हुए हैं। अंचल पदाधिकारी पंकज कुमार ने सारण मुख्य तटबंध, जमींदारी बांध व राजस्व छरकियों का निरीक्षण करने के बाद बताया कि तटबंध पूरी तरह सुरक्षित है। नदी के बढ़ते जलस्तर से किसी प्रकार का नुकसान नहीं हो सकता है। बावजूद उन्होंने निचले हिस्से में बसे लोगों को अलर्ट रहने को कहा है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Panic in Diyar due to continuous rise in water level of Gandak river