ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहार गोपालगंजपंचायतों में बनेंगे पुस्तकालय,बस पड़ाव व यात्री शेड

पंचायतों में बनेंगे पुस्तकालय,बस पड़ाव व यात्री शेड

- 15 वीं वित्त आयोग का बढ़ाया गया दायरा, पंचायतों में विकास के कराए जाएंगे कई...

पंचायतों में बनेंगे पुस्तकालय,बस पड़ाव व यात्री शेड
हिन्दुस्तान टीम,गोपालगंजThu, 07 Dec 2023 11:00 PM
ऐप पर पढ़ें

- 15 वीं वित्त आयोग का बढ़ाया गया दायरा, पंचायतों में विकास के कराए जाएंगे कई कार्य
-विद्यालयों के चाहरदीवारी पर भी प्राथमिकता के आधार पर खर्च होगी पंद्रहवीं वित्त की राशि

गोपालगंज, हमारे प्रतिनिधि

अब जिले की 230 पंचायतों में 15 वीं वित्त आयोग की राशि से विकास के कई कार्य कराए जाएंगे। इसमें पुस्तकालय, शवदाह गृह, बस स्टैंड, यात्री शेड व समुदायिक भवन आदि शामिल हैं। 15 वीं वित्त आयोग से पहले इन विकास कार्यों को करने की अनुमति नहीं थी। अब पंचायती राज विभाग ने 2025-26 तक 15 वीं वित्त आयोग के टायड व अनटायड गतिविधियों में इन विकास कार्यों को सम्मिलित कर पंचायत के विकास करने की योजना बनाई गई है। इस योजना से स्वच्छता, स्वास्थ्य रक्षा, मल एवं गंदगी मुक्त पंचायत बनाने, पेयजलापूर्ति, वर्षा जल संचयन व जल चक्रण पर खर्च करने की मंजूरी दी गई है। पंचायत के प्रतिनिधि अब 15 वीं वित्त आयोग की राशि विद्यालयों के चाहरदीवारी कराने पर भी प्राथमिकता के आधार पर खर्च कर सकते हैं।

30 प्रतिशत राशि से स्वच्छ पंचायत बनाने पर जोर

पंचायती राज विभाग ने 15 वीं वित्त आयोग से जारी 30 प्रतिशत राशि को पंचायत को स्वच्छ बनाने पर खर्च करने की योजना बनाई है। इस राशि से पंचायतों में ठोस व तरल अपशिष्ट प्रबंधन, स्वच्छता के लिए शेष गलियों का पक्कीकरण व नाली का निर्माण होगा। इसी तरह सांस्कृतिक धरोहरों के संरक्षण, स्वच्छता रख रखाव व फलदार पौधे लगाने , सार्वजनिक स्थलों पर सोख्ता का निर्माण के कार्य भी कराए जाएंगे। तरह योजना की 30 प्रतिशत राशि सात निश्चय योजना से लगी पेयजलापूर्ति के रख रखाव, सार्वजनिक कुंओं के जीर्णोद्धार, छठ घाट के निर्माण आदि पर खर्च होंगे।

बीडीसी व जिला पार्षद भी योजना से कराऐंगे कार्य

पंचायतों में 15 वीं वित्त आयोग की राशि पंचायत समिति सदस्य व जिला पार्षद भी पंचायतों के विकास पर खर्च कर सकेंगे। यह पंचायतों में इस राशि से पंचायत समिति के बाजारों में स्वच्छता व जलापूर्ति, सार्वजनिक स्थलों पर चबूतरे का निर्माण, उच्च विद्यालयों में शौचालय का निर्माण, दो पंचायतों के बीच नाला व सड़कों के निर्माण आदि कराए जाएंगे।

वर्जन

अब जिले की पंचायतों के विकास के लिए 15 वीं वित्त आयोग की सीमा बढ़ा दी गई है। नए प्रारूप में 15 वीं वित्त आयोग से होने वाले कार्यों का दायरा बढ़ाया गया है। अनंत कुमार, जिला पंचायती राज पदाधिकारी, गोपालगंज

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें