DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इलाज के दौरान मुखिया महातम चौधरी की गोरखपुर में हुई मौत

इलाज के दौरान मुखिया महातम चौधरी की गोरखपुर में हुई मौत

अपराधियों की गोलीबारी में गंभीर रूप से जख्मी उचकागांव प्रखंड की बलेसरा पंचायत के मुखिया व प्रखंड मुखिया संघ के अध्यक्ष महातम चौधरी की मौत बुधवार को इलाज के दौरान हो गई। उन्हें गोली लगने के बाद पहले सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया था। बाद में उनकी नाजुक हालत को देख कर डॉक्टरों ने गोरखपुर मेडिकल कॉलेज व अस्पताल रेफर कर दिया था। वहां सुबह में ऑपरेशन कर मुखिया के पेट से गोली निकाली गई थी। उनके जांघ में भी गोली फंसी थी। डॉक्टरों के अनुसार अत्यधिक खून निकल जाने व संक्रमण संबंधी जटिलताओं के कारण उनका निधन हो गया। उनके अंदरूनी अंगों को भी गोली लगने से काफी क्षति पहुंची थी। मुखिया की मौत की खबर मिलते ही उनके परिजन व समर्थक दोहरे मातम में डूब गए। इसके पूर्व गोली लगने से जख्मी उनके बड़े पुत्र सत्येन्द्र यादव की गोपालगंज सदर अस्पताल में मंगलवार की शाम को मौत हो गई थी। मुखिया की जख्मी पत्नी व दूसरे पुत्र की भी हालत नाजुक बनी हुई है। दोनों को मंगलवार की रात को ही गोरखपुर से बेहतर इलाज के लिए पीजीआई लखनऊ रेफर कर दिया गया था। मुखिया की पत्नी मालती देवी को पीठ व सीने में कई गोलियां फंसी हुई हैं। जबकि दूसरे पुत्र के स्पाइनल के क्षतिग्रस्त हो जाने से शरीर की कार्य प्रणाली सामान्य तरीके से काम नहीं कर रही है। दोनों के साथ इलाज के लिए गए परिजनों ने डॉक्टरों के हवाले से बताया कि अगले चौबीस घंटे में ही स्थिति में सुधार के संबंध में बताया जा सकता है। इधर मामले में पुलिस ने मरने से पूर्व मुखिया के दिए गए बयान के आधार पर बलेसरा पंचायत के पैक्स अध्यक्ष सुरेश चौधरी व पूर्व मुखिया सुशीला देवी के पुत्र बबलू दुबे को नामजद किया है। मामले में नामजद किए गए बबलू दुबे ने एसपी व हथुआ एसडीपीओ के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया। हथुआ एसडीओ इम्तेयाज अहमद ने बताया कि फरार पैक्स अध्यक्ष की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ilaj ke dauran ghayl mukhiya ki maut