DA Image
हिंदी न्यूज़ › बिहार › गया › पटवाटोली के बुनकरों बंगाल में लॉक डाउन खत्म होने का है इंतजार, वाट जोह रहे हैं व्यापारी
गया

पटवाटोली के बुनकरों बंगाल में लॉक डाउन खत्म होने का है इंतजार, वाट जोह रहे हैं व्यापारी

हिन्दुस्तान टीम,गयाPublished By: Newswrap
Thu, 03 Jun 2021 08:30 PM
पटवाटोली के बुनकरों बंगाल में लॉक डाउन खत्म होने का है इंतजार, वाट जोह रहे हैं व्यापारी

मानपुर। वस्त्र उद्योग के रूप में बिहार में मिनी मैनचेस्टर मानी जाने वाली पटवा टोली के बुनकरों को बंगाल में लॉक डाउन खत्म होने का इंतजार कर रहे हैं। वे बंगाल के कपड़ा व्यापारियों के आने की वाट जोह रहे हैं।

कोरोना महामारी से बचाव को लेकर सरकार द्वारा लॉकडाउन लगा दिया गया है। इसके कारण प्रदेश के जिले के व्यापारी समेत अन्य राज्यों से कपड़ा व्पारी यहां के निर्मित कपड़े खरीदने नहीं आ रहे हैं। जबकि पटवा टोली मुहल्ले में निर्मित वस्त्रों को यूपी, झारखण्ड, आसाम व बंगाल में सप्लाई किये जाते हैं। यहां कपड़ा व्यापारियों के नहीं आने से पटवाटोली की गलियों में सन्नाटा पसरा है।

जिस थोक विक्रेता की दुकान से प्रतिदिन ढाई से तीन लाख रुपए की बिक्री होती थी वहां इन दिनों पांच हजार रुपए की बिक्री भी मुश्किल से हो रही है। वस्त्र उद्योग बुनकर समिति के प्रदेश अध्यक्ष प्रेम नारायण पटवा ने बताया कि यहां के निर्मित कपड़े अधिकतर बंगाल में सप्लाई होते हैं। बंगाल में 15 जून तक लॉकडाउन लगा है। अगर उक्त तिथि के बाद लॉकडाउन हटाने की तिथि बढ़ायी गयी तो यहां के बुनकरों को काफी ह्रास होगा। बुनकरों को राहत के लिए बैंकों से लोन दिया जाना चाहिये।

संबंधित खबरें