ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहार गयाकैदी के साथ मारपीट की शिकायतों की होगी मजिस्ट्रेटी जांच

कैदी के साथ मारपीट की शिकायतों की होगी मजिस्ट्रेटी जांच

शेरघाटी जेल में एक विचाराधीन कैदी के साथ दो हफ्ते पूर्व हुई कथित मारपीट की मजिस्ट्रेटी जांच होगी। गया के जिलाधिकारी डॉ. त्यागराजन एसएम ने बंदी के...

कैदी के साथ मारपीट की शिकायतों की होगी मजिस्ट्रेटी जांच
Newswrapहिन्दुस्तान टीम,गयाThu, 24 Nov 2022 09:30 PM
ऐप पर पढ़ें

शेरघाटी जेल में एक विचाराधीन कैदी के साथ दो हफ्ते पूर्व हुई कथित मारपीट की मजिस्ट्रेटी जांच होगी। गया के जिलाधिकारी डॉ. त्यागराजन एसएम ने बंदी के साथ हुई कथित बर्बरता की जांच के लिए शेरघाटी के एसडीओ अनिल कुमार रमण को जिम्मेवारी सौंपी है। डीएम ने एसडीओ को लिखे ताजा पत्र में बंदी के साथ बेरहमी से की गई मारपीट की शिकायतों की जांच कर विस्तृत और स्पष्ट रिपोर्ट तलब की है। अधिकृत सूत्रों ने गुरुवार को यह जानकारी दी है।

इससे पूर्व बंदी के परिजनों ने डीएम सहित वरीय प्रशासनिक अधिकारियों और मानवाधिकार आयोग को लिखे पत्र में जेलकर्मियों पर पैसे के लिए विचाराधीन बंदी के साथ मारपीट करने का आरोप लगाया था। शेरघाटी जेल के अधीक्षक आशीष रंजन पहले ही परिजनों के आरोपों को तथ्यहीन बताते हुए खारिज कर चुके हैं। जेल अधिकारी का कहना था कि बंदी के साथ किन परिस्थितियों में किसने, कब मारपीट की, इसका पता लगाने के लिए जांच की जा रही है।

इस बीच कोर्ट के आदेश पर पिटाई से चोटिल हुए बंदी का जेलकर्मियों द्वारा दो दिनों पूर्व अनुमंडलीय अस्पताल में इलाज भी कराया गया था। अस्पताल में बंदी की एक्स-रे जांच भी की गई थी। मारपीट की घटना 15 नवम्बर की बतायी गई है। कथित ज्यादती का शिकार बना 28 वर्षीय बंदी संजय यादव धनगाईं थानाक्षेत्र के मंशाडीह गांव का रहने वाला है। दहेज उत्पीड़न के एक मामले में वह पिछले करीब 11 महीने से जेल में बंद है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
epaper