ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहार गयाशेरघाटी में महीने भर से बंद है टीबी रोग की जांच का काम

शेरघाटी में महीने भर से बंद है टीबी रोग की जांच का काम

शेरघाटी के अनुमंडलीय अस्पताल में किट की कमी के कारण महीने-भर से टीबी के संदिग्ध मरीजों की जांच का काम बंद है। सगाही से अपने पति पवन मंडल को लेकर...

शेरघाटी में महीने भर से बंद है टीबी रोग की जांच का काम
Newswrapहिन्दुस्तान टीम,गयाWed, 30 Nov 2022 07:00 PM
ऐप पर पढ़ें

शेरघाटी के अनुमंडलीय अस्पताल में किट की कमी के कारण महीने-भर से टीबी के संदिग्ध मरीजों की जांच का काम बंद है। सगाही से अपने पति पवन मंडल को लेकर टीबी की जांच कराने शेरघाटी आइ चिंता देवी ने बताया कि उसे जांच के बगैर वापस लौटना पड़ रहा है। उसका पति कई हफ्ते से बीमार है, एक्स-रे रिपोर्ट में टीबी के चिन्ह मिले हैं, अब खखार जांच के लिए टीबी केंद्र में पहुंची तो यहां साधनों की कमी बताकर लौटा दिया गया। बता दें कि मरीजों के लौटने का यह सिलसिला गत चार नवम्बर से बना हुआ है।

स्थानीय टेक्निशियन संदीप पाठक कहते हैं कि अंतिम बार चार नवम्बर को आमस के हदासपुर गांव से आए एक संदिग्ध मरीज की जांच की गई थी, उसके बाद किट की कमी से जांच का काम बंद है। उन्होंने बताया कि जिला मुख्यालय को भी किट की कमी की सूचना भेजी गई है। बता दें कि टीबी जैसे जानलेवा रोग की जांच पड़ताल को लेकर इस तरह की लापरवाही से मरीजों की मुश्किलें बढ़ गई हैं। टीबी रोग से पीड़ित मरीजों को मिलने वाली सहायता राशि का भी कायदे से भुगतान नहीं किया जा रहा है। सगाही के बीमार पवन मंडल का कहना है कि वह लम्बे समय से यक्षमा रोग के निदान के लिए दवा खा रहा है, मगर उसे कोई नकद सहायता नहीं मिली है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।