DA Image
10 अप्रैल, 2021|4:05|IST

अगली स्टोरी

महाबोधि एक्सप्रेस की रफ्तार होगी अब 130 किलो मीटर प्रति घंटे

गया जंक्शन से होकर महाबोधि एक्सप्रेस सहित पूर्वा एक्सप्रेस और गंगा-सतलज एक्सप्रेस की गति सीमा बढ़ा दी गई है। 110 मिलो मीटर प्रति घंटे के बजाय अब 130 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से ये ट्रेनें चलेंगी। इससे यात्रियों का समय बचेगा। इस संबंध में संरक्षा आयुक्त ने गति बढ़ाने का अनुमोदन किया है।

रेल सूत्रों ने बताया कि लालपरी एलएचवी कोच युक्त महाबोधि एक्सप्रेस गया से नई दिल्ली के बीच चलती है। इसी तरह गया जंक्शन से होकर हावड़ा से नई दिल्ली के बीच पूर्वा एक्सप्रेस तथा गया जंक्शन से होकर ही धनबाद से लुधियाना के बीच चलने वाली गंगा-सतलज एक्सप्रेस का भी गति सीमा 130 किमी प्रति घंटे कर दी गई है।

रेल सूत्रों ने यह भी बताया कि गया जंक्शन से होकर चलने वाली लालपरी एलएचवी युक्त कोच वाली अन्य ट्रेनों की गति में बढ़ोतरी की जाएगी। एलएचवी कोच स्टेनलेस स्टील और एल्यूमीनियम के बने होते हैं। एलएचवी कोच में डिस्क ब्रेक सिस्टम होता है जिससे ट्रेन को जल्दी रोका जा सकता है। हाई स्पीड होने पर भी दुर्घटना होने के चांस को कम करता है। इस कोच का रख रखाव पांच लाख किलोमीटर परिचालन के बाद किया जाता है।

गया-किऊल सेक्शन पर मेमू ट्रेन चलाने की मांग

गया। गया-किऊल रेल सेक्शन पर विद्युतीकरण कार्य सम्पन्न हो गया है। इस सेक्शन पर यात्रियों की सुविधा को देखते हुए मेमू ट्रेन चलाने की मांग की गई है। इस संबंध में ग्रैंडकॉर्ड पैसेंजर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष डीके जैन तथा युवा सामाजिक कार्यकर्ता उदय कुमार उर्फ रसगुल्ला सिंह ने रेल मंत्री तथा पूर्व मध्य रेलवे के महाप्रबंधक को पत्र लिया है। लिखे पत्र में उन्होंने कहा कि गया-कोडरमा रेल सेक्शन के पहाड़पुर स्टेशन पर पटना-हटिया जनशताब्दी एक्सप्रेस का ठहराव की भी मांग की है। (हि.सं.)

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:The speed of Mahabodhi Express will now be 130 kilometer per hour