DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

थाई श्रद्धालुओं ने विश्वशांति के लिए की पूजा

default image

थाईलैंड से बड़ी संख्या में बौद्ध श्रद्धालुओं का दल रविवार को बोधगया पहुंचा। मगध थाई मंदिर में बौद्ध धर्म पर आयोजित सेमिनार में हिस्सा लिया। कार्यक्रम शुरू करने के पहले विशेष पूजा के साथ बौद्ध भिक्षुओं ने विश्वशांति के लिए विशेष प्रार्थना की।

आयोजित कार्यक्रम में थाईलैंड के अलावे विभिन्न देशों के बौद्ध श्रद्धालु और भिक्षु शामिल हुए। देश दुनिया की खुशहाली के लिए भगवान बुद्ध से कामना की। मगध थाई मंदिर के डा. फ्रा विथेष बोधिखुन मुख्य पुजारी अपनी उपस्थिति में थाई बौद्ध अनुयायियों का आध्यात्मिक मार्गदर्शन किया। पांच दिनों तक ये बौद्ध श्रद्धालु बोधगया में रहकर बौद्ध धर्म का अध्ययन करेंगे। इसको लेकर मगध थाई में विशेष सत्र का आयोजन किया गया है। धर्मस्थलों के महत्व से भिक्षुओं, उपासकों उपासिकाओं एवं आमजनों को अवगत कराया जाएगा। इस संबंध में संस्था के सचिव सुलेस कुमार ने बताया कि विशेष पूजा में थाईलैंड और भारत के खुशहाली के लिए प्रार्थना किया गया। इनदिनों बौद्ध भिक्षुओं का पवित्र वर्षावास चल रहा है। इसको लेकर थाईलैंड से बड़ी संख्या में श्रद्धालु पूजा में शामिल होने के लिए बोधगया पहुंच रहे है। महाबोधि मंदिर व बोधिवृक्ष के नीचे विश्वशांति के लिए प्रार्थना करने के बाद सभी बौद्ध भिक्षु मगध थाई मंदिर पहुंचे और करीब दो घंटे तक चली इस विशेष पूजा में शरीक हुए। इसके बाद पृथ्वी के सभी जीवों के कल्याण एवं मंगल कामना की भगवान बुद्ध से आशीष मांगा। उन्होंने कहा कि विभिन्न देशों के करीब 100 बौद्ध गुरुओं ने शांति प्रार्थना की उत्पत्ति पर अपनी अगाध श्रद्धा व्यक्त करते हुए कि हम सभी जागरूक प्राणियों के लाभ के लिए कामना किया। अध्यात्म गुरु और अनुयायी सभी मानवता व जीवों के कल्याण के लिए प्रार्थना कर रहे हैं। बोधगया आनेवाले पर्यटक इस महत्व को जानने के बाद अन्य धर्मस्थलों पर भी तीर्थाटन के लिए जायेंगे। बोधगया के आसपास बौद्धधर्म से जुड़ी जानकारी से अवगत होंगे। इस मौके पर प्रियापोंग, सूश्री डियन, सुश्री जांग सहित करीब एक सौ भिक्षु व उपासक भाग ले रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Thai devotees worship for world peace