DA Image
19 अक्तूबर, 2020|5:29|IST

अगली स्टोरी

गुरुद्वारे में पूर्णमासी पर कोरोना के बचाव को विशेष अरदास

default image

गुरुद्वारे में गुरुवार की शाम धूमधाम से पूर्णमासी मनायी गई। कोरोना वायरस को लेकर सोशल डिस्टेंसिंग व अन्य सावधानियों के साथ धार्मिक आयोजन हुए। पाठ, कीर्तन, अरदास व गुरु के अटूट लंगर में श्रद्धालुओं ने हिस्सा लिया। गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष सरदार भगवान सिंह व उपाध्यक्ष सरदार रौनक सिंह ने बताया कि कोविड-19 को लेकर छह माह बाद गुरुद्वारे में कोई आयोजन हुआ है। अभी भी कोरोना को लेकर देश में भय का माहौल बना है। इसे देखते हुए विशेष दिन पूर्णमासी पर सिख समाज की ओर से करोना की महामारी से सभी के बचाव के लिए खास अरदास कराई गई। इस मौके पर कमेटी सचिव सरदार शरब सिंह, सदस्य सरदार बिट्टू सिंह, सरदार मन्ना सिंह जी व टिंकू शर्मा सहित अन्य लोगों ने सामूहिक रूप से कोरोना महामारी से सब की सुरक्षा के लिए एक विशेष अरदास किया।

गयापाल पंडों ने शुरू की फल्गु की महाआरती

फोटो

गया। निज प्रतिनिधि

मोक्षदायिनी की महत्ता को देखते हुए विष्णुधाम के पंडा समाज ने फल्गु की महाआरती शुरू की। आश्विन शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा गुरुवार की शाम उत्साह के साथ देवघाट पर आरती हुई। हरिद्वार और वाराणसी में होने वाली मां गंगा की महाआरती की तर्ज पर वैदिक मंत्रोच्चार के बीच ब्राह्मण व पंडा जी ने फल्गु जी की पहली आरती की। इस मौके पर भारी संख्या में गयापाल के अलावा अन्य लोग भी मौजूद रहे। श्री विष्णुपद प्रबंधकारिणी समिति के सचिव गजाधर लाल पाठक ने बताया कि गयापालों ने बताया कि अब हर पूर्णिमा के मौके पर देवघाट पर पूरे विधि-विधान और उत्साह के साथ फल्गु जी की महाआरती होगी। महाआरती के मौके पर मुरली आचार्या, विवेक लाल भैया, मुन्ना लाल गुर्दा, सुदामा दुबे उर्फ छोटू पंडा, किशोर लाल गुर्दा, मुन्नु लाल ढोकलेश्वर व शंभू गुर्दा सहित अन्य गयापाल मौजूद रहे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Special Ardas to rescue Corona at Poornamasi in Gurdwara