DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   बिहार  ›  गया  ›  सैनिक योग से दुर्लभ परिस्थितियों में खुद को रखते हैं फिट: कुलसचिव
गया

सैनिक योग से दुर्लभ परिस्थितियों में खुद को रखते हैं फिट: कुलसचिव

हिन्दुस्तान टीम,गयाPublished By: Newswrap
Thu, 17 Jun 2021 06:20 PM
सैनिक योग से दुर्लभ परिस्थितियों में खुद को रखते हैं फिट: कुलसचिव

टिकारी। निज संवाददाता

योग शरीर को चुस्त - दुरुस्त रखने की एक प्राचीन कला है और इसके बहुआयामी फायदे हैं। सिर्फ आम लोग ही नहीं बल्कि भारतीय सेना के जवान भी अपने को दुर्लभ परिस्थितियों में फिट रखने के लिए नित्य योग करते हैं। ये बातें दक्षिण बिहार केन्द्रीय विश्वविद्यालय (सीयूएसबी) के कुलसचिव कर्नल राजीव कुमार सिंह ने विवि के शारीरिक शिक्षा विभाग के तत्वाधान में आयोजित ई-कार्यशाला में कही।

कुलसचिव ने अपने फौज के दिनों के अनुभव को प्रतिभागियों के साथ साझा करते हुए बताया कि कठिन परिस्थितियों एवं दुर्गम स्थानों पर पोस्टिंग के दौरान सिपाही निरंतर योग की सहायता से स्वयं को शारीरिक एवं मानसिक रूप से स्वस्थ रखते हैं। योग के महत्व को बताते हुए कर्नल सिंह ने कहा कि आमजन फिट रहने के लिए प्रतिदिन कम से कम 30 मिनट तक योग एवं व्यायाम करें।

सूर्य नमस्कार की दी गई जानकारी

श्री गांधी पीजी कॉलेज, आज़मगढ़ के सह प्राध्यापक डॉ. प्रशांत कुमार राय ने योगासन एवं प्राणायाम के महत्व को बताया। हरिद्वार के योग चिकित्सक डॉ. लक्ष्मी नारायण जोशी ने योग के विभिन्न आसनों को प्रतिभागियों से साझा करते हुए सूर्य नमस्कार एवं शरीर के विभिन्न भागों में होने वाले दर्दों जैसे सायटिका, स्पोंडलीटीस के निवारण के उपाय बताए। सीयूएसबी के पुस्तकालयाध्यक्ष डॉ. प्रमोद कुमार सिंह ने योग के इतिहास और आयुष मंत्रालय द्वारा योग के प्रचार - प्रसार के लिए किए गए प्रयासों की सराहना की। कार्यशाला का संचालन तथा अतिथियों का स्वागत डॉ. गौरव कुमार सिंह ने किया। कार्यशाला में विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ० आशीष सिंह, आयोजक सचिव डॉ. पिंटू लाल मंडल, सह प्राध्यापिका डॉ. उषा तिवारी, डॉ. राहुल सिंह, खेल-कूद विभाग के सहायक निदेशक डॉ. जितेंद्र प्रताप सिंह, तकनीकी सहायक राकेश रंजन मौजूद थे। अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस को लेकर सात दिवसीय अंतरराष्ट्रीय योग ई-कार्यशाला 21 जून 2021 तक चलेगा।

संबंधित खबरें