ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहार गया28 को फूलों से सजे मंडप में श्री राम- जानकी की होगी शादी

28 को फूलों से सजे मंडप में श्री राम- जानकी की होगी शादी

विष्णुपद मंदिर में चार दिनों बाद धूमधाम से प्रभु श्रीराम व माता जानकी की शादी होगी। फूलों से बने मंडप में श्रीराम व सीता का पूरे विधान के साथ विवाह...

28 को फूलों से सजे मंडप में श्री राम- जानकी की होगी शादी
Newswrapहिन्दुस्तान टीम,गयाThu, 24 Nov 2022 06:40 PM
ऐप पर पढ़ें

विष्णुपद मंदिर में चार दिनों बाद धूमधाम से प्रभु श्रीराम व माता जानकी की शादी होगी। फूलों से बने मंडप में श्रीराम व सीता का पूरे विधान के साथ विवाह होगा। श्री विष्णुपद प्रबंधकारिणी समिति के बैनर तले आयोजित होने वाले चार दिवसीय श्रीराम विवाह महोत्सव -2022 की तैयारी चल रही है। कोरोना काल के दो साल बाद बेहद धूमधाम से विवाह महोत्सव की तैयारी है। महोत्सव के दौरान 27 नवम्बर से लेकर 30 नवम्बर तक विवाह सहित कई धार्मिक कार्यक्रम होंगे। भव्य आयोजन को लेकर विष्णुपद मंदिर की साफ-सफाई हो रही है। रंगीन बल्लों से सजावट की जा रही है।

हाथी-घोड़ा व बैंड-बाजा के साथ 27 को निकलेगी श्रीराम की बारात

श्रीराम विवाह महोत्सव को लेकर 27 नवम्बर को हाथी-घोड़ा व बैंड-बाजा के साथ भगवान श्रीराम की बारात निकलेगी। चांदी की पालकी पर विष्णुचरण होगा। दोपहर विष्णुपद मंदिर से बारात निकलकर दक्षिण दरवाजा, नारायणचुआं, चांदचौरा, पंचमहल्ला, रामसागर, कोयरीबाड़ी, पीरमंसूर, गोदाम केपी रोड, टेकारी रोड, आजाद पार्क (पश्चिमी मार्ग), गोलपत्थर, लहेरिया टोला, टावर चौक, रमना व कोयरीबाड़ी होते हुए विष्णुपद मंदिर लौटेगी। बारात में पटना और गया के बैंड, डंका, ताशा पार्टी सहित कोलकाता की श्रीराम दरबार की आकर्षक झांकी होगी।

28 को मंदिर में धूमधाम से होगी श्रीराम-जानकी की शादी

भगवान श्रीराम का विवाह 28 नवम्बर सोमवार को धूमधाम से होगा। इसके लिए मंदिर परिसर में तरह-तरह के फूलों से आकर्षक मंडप बनाया जाएगा। विवाह महोत्सव को लेकर मंदिर सहित आसपास के इलाके को रंग-बिरंगे बल्बों से दुल्हन की तरह सजाया जाएगा। विवाह में भारी संख्या में महिलाएं भी शामिल होंगी। पूरे विधि-विधान के साथ भगवान श्रीराम का विवाह संपन्न होगा।

कोरोना काल के दो साल इस धूमधाम से होगा आयोजन, जोरदार तैयारी

कोरोना के कारण 2020 में बारात नहीं निकली। 2021 में सादे ढंग से पाबंदी के साथ निकली। इस साल बारात कोरोना काल से पहले की तरह धूमधाम से निकलेगी और निर्धारित मार्गों से गुजरेगी। समिति के अध्यक्ष शंभूलाल विट्ठल और सचिव गजाधर लाल पाठक ने बताया कि 27 नवम्बर को शोभा यात्रा, 28 को विवाह, 29 को भंडारा और अंतिम दिन 30 नवम्बर को दरिद्रनारायण भोजन का आयोजन किया गया है। अध्यक्ष ने बताया कि वाटर सप्लाई पाइप बिछाने को लेकर शहर की सड़कें जर्जर हाल में हैं। ऐसे में श्रीराम की बारात निकलने में भारी दिक्कत होगी। इस संबंध में डीएम को आवेदन दिया गया है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
epaper