DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   बिहार  ›  गया  ›  ऑपरेटर के बगैर बेकार पड़ी है शेरघाटी अस्पताल की अल्ट्रासाउंड मशीन

गयाऑपरेटर के बगैर बेकार पड़ी है शेरघाटी अस्पताल की अल्ट्रासाउंड मशीन

हिन्दुस्तान टीम,गयाPublished By: Newswrap
Mon, 24 May 2021 09:20 PM
ऑपरेटर के बगैर बेकार पड़ी है शेरघाटी अस्पताल की अल्ट्रासाउंड मशीन

शेरघाटी के अनुमंडलीय अस्पताल में सोमवार को प्रसव पूर्व जांच के लिए निकट के गोपालपुर गांव से आई मुन्नी कुमारी को अल्ट्रासाउंड एक्स-रे की जरूरत पड़ी तो उसे प्राइवेट एक्स-रे लैब से जांच रिपोर्ट लानी पड़ी। और यह हाल तब है जब अस्पताल में अल्ट्रासाउंड एक्स-रे की मशीन उपलब्ध है। आम तौर पर वजह यह बतायी जाती है कि उस एक्स-रे मशीन को चलाने के लिए कोई ऑपरेटर नहीं है। जिस लेडी डाक्टर को इसकी जिम्मेवारी सौंपी है, अस्पताल में उस वक्त उनकी ड्यूटी नहीं होने के कारण मरीजों को यह सुविधा नहीं मिल पाती। अल्ट्रासाउंड एक्स-रे जांच के लिए कोई दिन या समय भी निर्धारित नहीं है। महिला के साथ आए उनके रिश्तेदार टिंकु सिंह कहते हैं कि लॉकडाउन काल में उन्हें दवा-जांच के लिए पैसे भी कर्ज लेने पड़े हैं।

जाहिर है अस्पताल में कोविड केस पर ज्यादा फोकस होने के कारण एक तो अस्पताल आने वाले मरीजों की संख्या घट कर बेहद कम (सोमवार को केवल 23 रजिस्ट्रेशन) हो गई है, दूसरे मरीजों को सुविधाएं भी नहीं मिल रही हैं। हमजापुर गांव से आए राशिद का कहना है कि उसकी महिला रिश्तेदार को सिजेरियन ऑपरेशन की जरूरत पड़ी तो उसे इसलिए रेफर कर दिया गया कि यहां कोई ऑपरेशन करने वाले डाक्टर और कर्मचारी नहीं हैं। कोविड काल में अस्पताल की ब्लड स्टोरेज युनिट भी बंद पड़ी है। अलबत्ता निकट के एक मुहल्ले से आइ गुलफशां कहती है कि उसे प्रसव पूर्व जांच में कोई दिक्कत नहीं हुई, दवाएं भी मिली हैं।

अस्पताल के उपाधीक्षक डा.उदय कुमार सिंह कहते हैं कि वैसे तो अस्पताल में 15 डाक्टर तैनात हैं, मगर उनमें 3 के दूसरी जगह प्रतिनियुक्त होने, दो के दुर्घटना में घायल होने और दो के कोरोना पॉजिटिव होने की वजह से केवल 8 डाक्टर ही शेष हैं। नर्स और चतुर्थवर्गीय कर्मियों की भी कमी है। कोरोना काल में नर्स और डाक्टर की हुई नयी नियुक्तियों के दौरान भी इस अस्पताल को कोई कर्मी नहीं मिले हैं। यही वजह है कि कोरोना वैक्सीनेशन और जांच के अलावा आइसोलेशन वार्ड और कोविड केंद्र में नर्सों की तैनाती के कारण सामान्य काम काज प्रभावित हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि स्थिति तेजी से नार्मल हो रही है और जल्द ही सारी सुविधाएं मरीजों को मिलने लगेंगी।

संबंधित खबरें