DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

छात्रा के अश्लील बातें करने वाला गया कॉलेज का प्रोफेसर निलंबित

छात्रा के साथ अश्लील बात करने मामले में गया कॉलेज के प्रोफेसर वकार अहमद को निलंबित कर दिया गया है। सोमवार को मगध यूनिवर्सिटी के वीसी प्रो कमर अहसन ने जांच रिपोर्ट के आधार पर यह कार्रवाई की है। इसके साथ विवि प्रशासन ने पुलिसिया करवाई के लिए भी पत्र लिखा है। यूनिवर्सिटी ने एसएसपी को पत्र देकर कहा कि इस मामले में तेजी से कार्रवाई की जाय। ताकि पीड़ित छात्रा को इंसाफ मिल सके। मगध यूनिवर्सिटी प्रशासन के संज्ञान में मामला आने के बाद जांच टीम गठित की गई थी। जांच टीम ने मामला सही पाते हुए इसकी रिपोर्ट यूनिवर्सिटी को सौंपी। इसके बाद विवि प्रशासन ने प्रोफेसर को निलंबित करते हुए पुलिस को करवाई के लिए लिखा है। गौरतलब हो कि गया कॉलेज के प्रोफेसर वकार अहमद ने पीजी फोर्थ सेमेस्टर (अंग्रेजी) में पढ़ने वाली एक छात्रा को उसके प्रोजेक्ट में मदद करने के बहाने फोन किया और उससे अश्लील बातें कीं। प्रोफेसर ने छात्रा को फर्स्ट क्लास मार्क्स के लिए घर पर आकर उनकी तमन्ना पूरी करने के लिए कहा। परेशान होकर छात्रा ने प्रोफेसर की शिकायत पुलिस से कर दी और बातचीत का ऑडियो क्लिप पुलिस तक पहुंचा दिया। ऑडियो क्लिप वायरल होने के बाद यह मामला तूल पकड़ लिया। इसको लेकर विभिन्न छात्र संगठन आंदोलनरत थे। अश्लील बात करने वाले प्रोफेसर को गिरफ्तारी मांग पुलिस से कर रहे है।अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने प्रो. वकार का फूंका पुतलागया कॉलेज के मुख्य द्वार पर छात्रों ने गिरफ्तारी और बर्खास्तगी की कर रहे थे मांग गया। हिन्दुस्तान संवाददाताअखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के नेतृत्व में छात्रों ने सोमवार को गया कॉलेज के मुख्य गेट पर प्रो. वकार अहमद का पुतला फूंका। साथ ही उसकी गिरफ्तारी और बर्खास्तगी की मांग की। छात्र नेताओं ने कहा कि मांग पूरी होने तक आन्दोलन जारी रहेगा। इस दौरान आयोजित सभा को विभाग प्रमुख दीपचंद गुप्ता ने कहा कि पीड़ित छात्रा को न्याय दिलाने में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के नेतृत्व में छात्र-छात्राएं अंतिम समय तक संघर्षरत रहेंगे। प्रो. वकार अहमद ने गुरु-शिष्य परम्परा को तार-तार कर दिया। इससे कॉलेज की प्रतिष्ठा भी धूमिल हुई है। गया कॉलेज छात्रसंघ अध्यक्ष अंकुश कुमार व महासचिव विदूषी कुमारी ने जिला प्रशासन से 24 घंटे के अंदर प्रो. वकार अहमद को गिरफ्तार करने की मांग की है। विद्यार्थी परिषद के प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य राजीव कुमार झा ने कहा कि जिला प्रशासन प्रो. वकार को बचाने की प्रयास कर रही है। इस अवसर पर वक्ताओं ने कहा कि पीड़िता को न्याय दिलाने के लिए जरुरत पड़ी तो विश्वविद्यालय में भी तालाबंदी आन्दोलन किया जाएगा। इस अवसर पर नवलेश मिश्रा, सूरज सिंह, लोजपा मगध विश्वविद्यालय अध्यक्ष शशि सिंह, प्रशांत, सत्यत,अमन, विनय, पवन आदि उपस्थित थे। प्रो. वकार को बर्खास्त कराने की मांग को लेकर बंद कराया गया कॉलेजकार्रवाई नहीं होने तक अनिश्चितकालीन बंद का एलानआक्रोशित हैं छात्र संगठन गया हिन्दुस्तान संवाददातागया कॉलेज की छात्रा के साथ पिछले दिन गलत बातें करने वाले अंग्रेजी विभाग के प्रो. वकार अहमद के विरोध में छात्र संगठन आन्दोलित हैं। सोमवार को प्रो. वकार को बर्खास्त कराने की मांग को लेकर छात्र संगठनों ने गया कॉलेज में प्रदर्शन किया और कॉलेज बंद करा दिया। साथ ही प्रो.बकार की गिरफ्तारी और बर्खास्तगी नहीं होने तक अनिश्चितकालीन गया कॉलेज बंद कराने का एलान किया है। आंदोलनरत छात्रों ने एक-एक विभाग को बदं करवाया। साथ ही कहा कि प्रो. वकार अहमद जैसे दरिंदे को बर्खास्त नहीं कर दिया जाता है तथा उसकी गिरफ्तारी नहीं हो जाती है, तब तक गया कॉलेज में पठन-पाठन का कार्य तथा कॉलेज की दिनचर्या स्थगित रहेगी। जनअधिकार छात्र परिषद, युवा शक्ति, छात्र लोकतांत्रिक जनता दल, छात्र राजद व एआईएसएफ के नेतृत्व में सैंकड़ो छात्र आन्दोलन में शामिल रहे। आन्दोलन का नेतृत्व लोकतांत्रिक जनता दल के प्रदेश अध्यक्ष राहुल रंजन, युवा शक्ति के जिलाध्यक्ष ओम यादव, ऑल इंडिया स्टूडेंट फेडरेशन के प्रदेश उपाध्यक्ष कुमार जितेंद्र ने किया। प्राचार्य के तबादले का किया विरोध छात्र संगठन ने गया कॉलेज के प्राचार्य प्रो. दिनेश कुमार सिन्हा के तबादले का विरोध किया। छात्र लोजद के राहुल रंजन ने कहा कि गया कॉलेज के प्राचार्य दिनेश कुमार सिन्हा को हटाना सरकार की सही नियत नहीं है। प्रो. दिनेश कुमार सिन्हा आठ जून 2018 को गया कॉलेज के प्राचार्य के रूप में योगदान किया था। 29 जूलाई को 2018 को उन्हें प्राचार्य पद से हटा दिया गया। छात्र संगठनों ने प्रदर्शन के दौरान प्राचार्य का तबादला रद्द कराने की मांग कर रहे थे। कुलपति आवास पर किया कुलपति का घेरावआन्दोलित छात्र संगठनों ने शहर स्थित कुलपति आवास पर पहुंचे और मगध विश्वविद्यालय के कुलपति का घेराव किया। इस दौरान छात्र संगठन के प्रतिनिधि कुलपति से मिलने का प्रयास किया। जाप के ओम यादव ने बताया कि काफी समय तक आवास का घेराव किए जाने के बाद कुलपति ने प्रो. वकार अहमद के खिलाफ कार्रवाई का आश्वासन दिया। साथ ही छात्र संगठन के पांच सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल से वार्ता करने के बाद कुलपति ने प्रो. वकार अहमद को निलंबित कर दिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:School professor suspended for sexually suggesting student