DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सफाई के बगैर शेरघाटी में दलित मुहल्लों में फैल रही सड़ांध

शहर की दलित बस्तियों में सफाई के बगैर नालियां उफन रही हैं। नतीजा है कि नालियों से निकलने वाली सड़ांध के बीच इन बस्तियों के बाशिंदे नारकीय जीवन गुजारने को मजबूर हैं। नगर पंचायत के वार्ड नम्बर पांच के अधीन शुमाली मुहल्ला चौधरी टोला में रहने वाली वृद्धा रजकलिया देवी कहती है कि उसके घर के पास से तीन साल पूर्व एक पक्की नाली बनी थी, परंतु आजतक इसे दुबारा साफ नहीं किया गया है। नतीजा है कि गंदगी से उफन रही इस नाली का पानी अक्सर उसके घर में चला आता है। घर के लोगों को उलीच कर पानी निकालना पड़ता है। यह क्रम रोज का है। यही हाल शहर के वार्ड नम्बर तीन और चार में स्थित नई बाजार मुहल्ले के दलित टोलों का है। नूतन नगर के निकट स्थित इस दलित टोले में रहने वाले महेश चौधरी कहते हैं कि पानी का निकास नहीं होने के कारण बारिश के दिनों में लोगों को काफी फजीहत झेलनी पड़ती है। उलीच कर वर्षा के पानी को घरों से निकालना पड़ता है। वार्ड नम्बर तीन और चार की विभाजक रेखा के रूप में चिंहित नूतन नगर की सड़क पर जलजमाव के कारण राहगीरों को भी परेशानी झेलनी पड़ रही है। नागरिक राजू कुमार की मानें तो वार्ड नम्बर छह के अधीन शुमाली मुहल्ला की बड़की भुइयां टोली में कृष्णा मांझी के घर से महेंद्र मांझी के घर तक बहने वाली पुरानी नाली के बंद हो जाने के कारण निकास के बगैर नाली का पानी सड़ांध फैला रहा है। इसी मुहल्ले में दिलीप मांझी के घर से गंधारी दास के घर तक सफाइ के बगैर नाली का अस्तित्व ही समाप्त हो गया है। पानी सड़क पर बह रहा है। बताया जाता है कि स्थानीय नगर पंचायत में सफाई के लिए कोई कार्य योजना नहीं है। सभी वार्ड में वार्ड कमिश्नरों के डिस्पोजल पर एक एक सफाई मजदूर दे दिए गए हैं और कुछ मजदूरों को कूड़ा ढोने वाले वाहनों पर लगाया गया है। मुख्य मार्ग छोड़कर शहर के किसी भी वार्ड में झाड़ू तक नहीं दिया जाता है। नगर पंचायत के एक वार्ड कमिश्नर रामलखन पासवान कहते हैं कि रूटीन सफाई कार्य के अलावा गंदगी को लेकर शिकायतें आने पर कार्रवाई की जाती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Sanitation in Sherghati