ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहार गयापुलिस अधिकारियों को दी गई नये आपराधिक कानूनों की जानकारी

पुलिस अधिकारियों को दी गई नये आपराधिक कानूनों की जानकारी

सेंट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ साउथ बिहार (सीयूएसबी) में नये आपराधिक कानूनों की जानकारी के लिए पुलिस अधिकारियों को दिये जा रहे पहला सत्र का प्रशिक्षण बुधवार...

पुलिस अधिकारियों को दी गई नये आपराधिक कानूनों की जानकारी
पुलिस अधिकारियों को दी गई नये आपराधिक कानूनों की जानकारी
हिन्दुस्तान टीम,गयाWed, 12 Jun 2024 08:30 PM
ऐप पर पढ़ें

सेंट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ साउथ बिहार (सीयूएसबी) में नये आपराधिक कानूनों की जानकारी के लिए पुलिस अधिकारियों को दिये जा रहे पहला सत्र का प्रशिक्षण बुधवार को समाप्त हो गया। बुधवार को बिहार पुलिस मुख्यालय, पटना से विभिन्न विशेषज्ञों से ऑनलाइन माध्यम से प्रशिक्षण दिया गया।
जुलाई से देश में लागू हो रहे तीन नये आपराधिक कानूनों की जानकारी पुलिस अधिकारियों को दी गई। प्रशिक्षण कार्यक्रम में पीटीसी से लेकर पुलिस अधीक्षक स्तर के 1130 से अधिक अधिकारी प्रशिक्षण दिया जाना है। एक जुलाई, 2024 से देश में तीन नये आपराधिक कानून लागू हो रहा है। यह कानून भारतीय न्याय संहिता, भारतीय नागरिक सुरक्षा संहिता और भारतीय साक्ष्य अधिनियम औपनिवेशिक युग के पुराने कानूनों की जगह लेंगे। नये कानूनों का उद्देश्य न्याय व्यवस्था को बेहतर, पारदर्शी, पीड़ित केंद्रीत बनाना है। मालूम हो कि नये कानूनों में फआईआर, केस डायरी, आरोप पत्र और पूरी अनुसंधान प्रक्रिया को डिजीटल बनाने का प्रावधान किया गया है। मॉब लिचिंग में मौत पर सजा का प्रावधान किया गया है। एसएसपी ने बताया कि दूसरे सत्र का प्रशिक्षण 13 से 15 जून और तीसरे सत्र का प्रशिक्षण 18 से 20 जून तक दिया जाएगा।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।